�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, July 10, 2020

11 पुलिया का टारगेट ढाई महीने में ही पूरा किया, बारिश बाद सड़क पर बिछेगा डामर

बारिश के पहले बोदली तक 11 पुलिया बनाने का टारगेट था। इसे ढाई महीने के अंदर ही पूरा कर दिखाया। नक्सलियों के इस गढ़ में इतनी तेज गति से काम पहली बार ही हुआ है। अब बारिश के बाद सड़क पर डामरीकरण का काम होगा। दरअसल ये वही इलाका है, जहां सड़क बनाने जवानों को नक्सली हमेशा चुनौती देते आए हैं।
बारसूर- पल्ली सड़क निर्माण का काम साल 2017- 18 से चल रहा है। स्टेट हाइवे 5 का काम पूरा होने से ग्रामीणों को बड़ी राहत मिलेगी। एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि बोदली तक 11 पुलिया बन गया है। सड़क भी बन रही है। डामरीकरण का काम बारिश के बाद होगा। पीडब्ल्यूडी एसडीओ एमके भौर्य ने बताया कि पुलिस के सहयोग से ही तेज गति से काम हो पाया है व बारिश के पहले मिले टारगेट को पूरा करने में सफल हुए हैं।गुरुवार को ही 11वे पुलिया का काम पूरा हुआ है।
मार्च में मिला था दंतेवाड़ा को ज़िम्मा: मार्च महीने में यहां जवानों पर नक्सलियों ने हमला किया था। इसके तुरन्त बाद दंतेवाड़ा पहुंचे डीजीपी डीएम अवस्थी ने बोदली, मालेवाही इलाके व बन रही सड़क का ज़िम्मा दंतेवाड़ा पुलिस को दिया था। दंतेवाड़ा पुलिस ने इसे चुनौती के तौर पर लिया व नक्सलगढ़ में सड़क बनाने की नई रणनीति बनाई व उसी के तहत काम शुरू किया। लॉक डाउन के कारण निर्माण काम बंद रहा। लेकिन निर्माण काम की अनुमति मिलते ही ढाई महीने के अंदर ही बोदली तक 11 पुलिया का काम पूरा कर लिया।

हो चुकी हैं घटनाएं

  • जनवरी 2019 को नक्सलियों ने यहां निर्माण काम में लगी 9 वाहनों में आग लगाई थी।
  • जुलाई 2019 को ब्लास्ट में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हुआ था।
  • अक्टूबर 2019 को ब्लास्ट में 2 मजदूर घायल हुए थे।
  • मार्च 2020 को हुए हमले में2 जवानों की शहादत हुई थी।

कडियामेटा पहुंचे आईजी, कलेक्टर- एसपी
इस इलाके में अफ़सर भी अब लगातार पहुंच रहे हैं। शुक्रवार को आईजी पी सुंदरराज, दंतेवाड़ा कलेक्टर दीपक सोनी, एसपी डॉ अभिषेक पल्लव, जगदलपुर एसपी सहित अन्य अफ़सर नक्सलगढ़ कड़ियामेटा कैम्प पहुंचे। सड़क सहित अन्य विकास कामों की भी रणनीति बनाई गई।

हफ्ते में 2-3 दिन ही चलता था काम, अब पूरे 6 दिन
इस सड़क को बनाने के लिए सुरक्षा का ज़िम्मा सीआरपीएफ 195 बटालियन के जवान ही संभाल रहे थे। सहयोग के लिए सीएएफ, डीआरजी जगदलपुर के जवान पहुंचते थे। पीडब्ल्यूडी के अफसरों ने बताया कि सुरक्षा बलों के नेतृत्व में हफ्ते में 2-3 दिन ही काम होता था। दिन में सिर्फ 4 घँटे ही काम चलता था। लेकिन मालेवाही, बोदली इलाके का ज़िम्मा दंतेवाड़ा पुलिस के संभालने के बाद काम में तेज़ी आई है। सहयोग से ही इतनी जल्दी पुलिया का निर्माण कर पाए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2ZWUDql

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages