�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, July 20, 2020

20 हजार की बजाय सिर्फ 2 हजार कावंरियों ने छुरीधाम पहुंचकर किया जलाभिषेक

जिला मुख्यालय से 10 किमी दूर स्थित छुरीधाम में तीसरे सोमवार को भक्तों का अलग-अलग जत्था सुबह प्रेमाबाग मंदिर स्थित गेज नदी से जल लेकर बोल बम के जयकारे के साथ रवाना हुआ। कोरोना संकट के कारण इस साल भक्तों की संख्या कम रही। मंदिर परिसर से विधायक ने कावरियों को ध्वजा प्रदान कर छुरीधाम के लिए रवाना किया। गौरतलब है कि छुरीधाम में हर साल 20 हजार कांवरिए पहुंचते थे, लेकिन इस साल कोरोना काल में सिर्फ 2 हजार कांवरिए ही छुरीधाम जलाभिषेक करने पहुंचे।
तीसरे सोमवार को कांवरियों का जत्था जलाभिषेक करने छुरी धाम पहुंचा। रास्ते में कई सामाजिक संगठनों ने पेयजल और आराम करने की व्यवस्था की थी। तीसरे सोमवार को 10 से 12 बजे के बीच रुक-रुककर बारिश हुई। गौरतलब है कि अलग-अलग जत्थों में सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु छुरी धाम स्थित शिवलिंग पर जलाभिषेक करने पहुंचे और यहां जल्द कोरोना संकट के खत्म होने की प्रार्थना की। गौरतलब है कि जिला मुख्यालय स्थित प्रेमाबाग मंदिर में बाबा देवराहा समिति के तत्वावधान में बीते 22 साल कांवर यात्रा का आयोजन किया जाता है। इस साल कोरोना संकट के क कारण प्रचार-प्रसार नहीं किया गया। वहीं समिति के पदाधिकारी शैलेश शिवहरे ने बताया कि 25 लोग ही शहर से जलाभिषेक करने रवाना हुए। कावरियों को विधायक अम्बिका सिंहदेव ने भगवा ध्वजा देकर व विधि-विधान के साथ पूजा कर नागा संत तुलसी पुरी ने दल को रवाना किया। यहां बता दें कि छुरी धाम पहुंचने वालों की संख्या हर साल बढ़ रही है, लेकिन कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच इस साल श्रद्धालुओं की संख्या में बड़ी गिरावट आई है। हर साल 20 हजार की संख्या में शहर और ग्रामीण क्षेत्र के लोग कांवर यात्रा में शामिल होते थे, लेकिन इस साल 2 हजार लोग ही पहुंचे। प्रेमाबाग मंदिर से रामधनी गुप्ता, अाशीष शुक्ला, सुशील शर्मा, सुभाष साहू, अनिल खटिक, घनश्याम साहू, भानूपाल, महेश तिवारी, अशोक वर्मा पहले जत्थे में शामिल हुए। चौथे सोमवार को पार्थिव शिवलिंग की स्थापना कर जलाभिषेक व महा रूद्राभिषेक किया जाएगा।

कावरियों ने नहीं लगाया मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग भूले
कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग और मुंह में मास्क लगाना जरूरी है। बावजूद इसके कई धार्मिक अवसर पर लोग इस नियम का पालन करने में लापरवाही बरत रहे हैं। कावरियों ने मास्क का उपयोग नहीं किया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Instead of 20 thousand, only 2 thousand Kaanwariis did Jalabhishek after reaching Chujidham


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2WEKIEV

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages