�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Thursday, July 30, 2020

लॉकडाउन में छत पर की प्रैक्टिस, अब एनबीए जी-लीग में खेलेगा प्रिंसपाल

डेरा बाबा नानक के गांव कादियां गुजरां के रहने वाले अंतरराष्ट्रीय बॉस्केटबाल खिलाड़ी प्रिंसपाल सिंह का यूएसए की एनबीए जी-लीग में सिलेक्शन हुआ है। वहीं प्रिंसपाल की सिलेक्शन होने पर उसके गांव में खुशी का माहौल है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने भी सोशल मीडिया पर प्रिंसपाल को मुबारकबाद दी है।

अब प्रिंसपाल अगले सेशन में अमेरिका में स्थित एनबीए में देश भर के खिलाड़ियों के साथ खेलते नजर आएंगे। 6 फुट 10 इंच के 19 वर्षीय प्रिंसपाल ने बताया कि वह पिछले 2 सालों से ऑस्ट्रेलिया में रह रहा था। दिसंबर 2019 में अपने गांव कादियां गुजरां में आया था। इसके बाद वह फरवरी महीने में इराक और बहरीन में भी खेला। मार्च में लगे लॉकडाउन के कारण उसने घर की छत्त पर ही अपनी प्रेक्टिस जारी रखी। वह रोजाना सुबह और शाम को 4 घंटे प्रेक्टिस कर रहा है। वह अब तक 12 से अधिक गोल्ड मैडल और कई ट्राफियां भी जीत चुका है।

कई देशों में खेल चुका है
प्रिंसपाल ने बताया कि 14 साल की उम्र में उसने लुधियाना की बास्केटबॉल अकादमी में दाखिला लिया था, इसके बाद वह पहली बार गुरु नानक स्टेडियम में खेला। पंजाब टीम में वह वर्ष 2016 से लेकर 2020 तक गोल्ड मैडल हासिल किया। वर्ष 2018 में हुए अंडर-18 में बास्केटबॉल मैच में वह टीम का कप्तान भी रहा। वह यूएसए, इटली, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, चीन, हांगकांग, स्पेन, बांग्लादेश, नेपाल, बहरीन, इराक आदि में भी खेल चुका है। एनबीए लीग में सिलेक्शन होने पर प्रिंसपाल ने खुशी व्यक्त करते कहा कि उसकी सफलता का पूरा योगदान उसके परिवार को जाता है। उसने बताया कि उसकी इस उपलब्धि पर कोच जयपाल, विधायक लखबीर सिंह लोधीनंगल और अमरीक सिंह खलीलपुर ने भी काफी योगदान दिया है।

सरकार गांव स्तर पर बनवाए स्टेडियम
प्रिंसपाल ने बताया कि उसने सेकेंडरी तक परीक्षा रूडियाना स्कूल से प्राप्त की है। शुरू से उसकी बॉस्केटबाल में रूचि थी। अब विदेशों में खेलने जाने पर उसे अंग्रेजी सिखने में भी काफी मेहनत करनी पड़ी। उसने बताया कि फिलहाल इस सैशन के लिए तारीख तय नहीं है। प्रिंसपाल ने सरकार से मांग की कि नौजवान पीढ़ी को खेलों के साथ जोड़ने के लिए गांव स्तर पर स्टेडियम बनाए जाने चाहिए और स्पोर्ट्स किटों का प्रबंध होना चाहिए, ताकि युवा पीढ़ी अपने गांव से ही खेलों में दृढ़ होकर राज्य व नेशनल स्तर पर खेले। ऐसे में युवा पीढ़ी का ध्यान खेलों में रहेगा और उनकी रूचि बढ़ेगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
परिवार के साथ प्रिंसपाल सिंह, अपने मेडल व ट्राफी दिखाते हुए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3gkajeg

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages