�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, July 12, 2020

सरकारी स्कूलाें में ऑनलाइन बाय मंथली टेस्ट आज से

शिक्षा विभाग द्वारा काेराेना संक्रमण के दाैर में भी पढ़ाई काे बंद न करते हुए स्टूडेंट्स काे ऑनलाइन पढ़ाने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। व्हाट्सएप, यू-ट्यूब, टीवी पर लाइव क्लासेस के जरिए बच्चाें काे सिलेबस करवाया गया। अब स्टूडेंट्स काे कितना समझ आया और उनकी तैयारी क्या है, ये परखने के लिए बाय मंथली टेस्ट लिए जा रहे हैं। 13 जुलाई यानी कि साेमवार से छठी से बारहवीं क्लास तक के ऑनलाइन टेस्ट लिए जाएंगे।

जिले में छठी से बारहवीं तक 12 हजार बच्चे पढ़ते हैं, लेकिन अभी बहुत सारे बच्चाें की दिक्कत ये है कि सेशन शुरू हाेने के 3 महीने बीतने के बावजूद भी उन्हें पूरी किताबें नहीं मिली। विभाग की ओर से ऑनलाइन पढ़ाने का दावा ताे किया गया है लेकिन असलियत ये है कि जिले में छठी से बारहवीं तक के 35 फीसदी स्टूडेंट्स के पास ऑनलाइन पढ़ने के संसाधन ही नहीं है। चूंकि ये टेस्ट भी ऑनलाइन हाेंगे ताे बच्चाें की ये चिंता बनी हुई है कि वे टेस्ट कैसे देंगे। अनलाॅक के बाद उनके पेरेंट्स अपना-अपना फाेन लेकर काम पर चले जाते हैं। ऐसी स्थिति में ऑनलाइन टेस्ट में अपीयर हाेना भी उनके लिए परेशानी का सबब बना हुआ है।

विभाग की ओर से लिए जाने वाले इस टेस्ट में 20 अंकाें के सब्जेक्टिव और ऑब्जेक्टिव दाेनाें तरह के प्रश्न पूछे जाएंगे। क्वेश्चन पेपर हेड ऑफिस की ओर से तैयार करके ऑनलाइन ही भेजे जाएंगे। सब्जेक्ट टीचर की ओर से एक हफ्ते में टेस्ट चेक किए जाएंगे। शिक्षा विभाग की ओर से इसे असेसमेंट मार्क्स ही बताया जा रहा है लेकिन बच्चाें काे पढ़ाई कराना भी जरूरी है।

बारहवीं क्लास में केवल एक मैथ्स की किताब ही मिली है

सातवीं क्लास की कंप्यूटर और साइंस मिली, आठवीं में पंजाबी व हिंदी, दसवीं की एसएसटी, ग्यारहवीं की जनरल पंजाबी, इलेक्टिव पंजाबी, कंप्यूटर, बारहवीं की मैथ्स की किताब ही मिली है। छठी क्लास की पंजाबी की किताब नहीं मिली। दरअसल स्थिति ये है कि कई स्कूल में कुछ किताबें मिली है ताे कुछ किताबें नहीं मिली। जैसे अगर एक स्कूल में आठवीं की मैथ्स की मिली है ताे किसी स्कूल में मैथस की नहीं मिली, पंजाबी की मिली है। यानी कि हर स्कूल में विभिन्न क्लासेस की दाे-तीन किताबें पेंडिंग ही हैं।




Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3iSABpE

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages