�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, July 12, 2020

मां चिंतपूर्णी के दरबार में नहीं लगेंगे सावन के मेले

श्रवण मास में हर साल माता चिंतपूर्णी के मंदिर में सावन के मेले लगते हैं और दूर-दूर से श्रद्धालु माथा टेकने आते हैं। जिले से भी हजाराें की संख्या में श्रद्धालु माता रानी के दरबार जाते हैं वहां तरह-तरह लंगर लगाते है। पर इस बार काेराेना वायरस के कारण हिमाचल सरकार ने मंदिर फिलहाल न खाेलने का फैसला किया है।

इस कारण इस बार सावन का मेला भी नहीं लगेगा। इस फैसले से श्रद्धालु निराश है क्योंकि कइयाें ने श्रवण मास में दरबार में हाजिरी लगाने की मन्नतें मांगी हाेती है। इसलिए भक्तों का कहना है कि भगवान से प्रार्थना है कि जल्द हालात ठीक कर दें। इस बार अगर न जा पाएं ताे अगले साल धूमधाम से दरबार में आएंगे।

घर पर ही किया कंजक पूजन

नवजोत ने बताया कि हर साल मां के दरबार में जाकर कंजक पूजन करते हैं, लेकिन नहीं जा पाएंगे। हालांकि धीरे-धीरे प्रशासन द्वारा धार्मिक स्थानों का खोलने के लिए परमिशन दे दी गई। मगर हिमाचल में अभी मां चिंतपूर्णी का दरबार बंद है। इस कारण मां के नाम का जयकारा लगाकर घर पर ही कंजक पूजन किया।

धार्मिक स्थानों से सबकी आस्था जुड़ी

दिनेश ने कहा कि धार्मिक स्थानों से सबकी आस्था जुड़ी है। वो मां के दरबार में बचपन से ही जा रहे है। मन्नतें मांगते थे और शहर से पैदल चलकर दरबार में माथा टेकने जाया करते थे। इस बार घर के नजदीक स्थित मां चिंतपूर्णी मंदिर में जाकर माता रानी के दर्शन कर सकते है।

16 साल की उम्र से जा रहे मेले में

रिंकू मोदी ने बताया कि सावन मास में माता चिंतपूर्णी के मेलों में 16 साल की उम्र से लगातार जा रहे हैं। भक्त मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए जगह-जगह लंगर लगाते थे। इस बार कोरोना की वजह से धार्मिक स्थानों की यात्रा से लेकर मेले रद्द कर दिए गए हैं। इस बार मन थाेड़ा दुखी ताे है। भगवान से प्रार्थना है सब ठीक कर दें।

13 साल से कर रही पैदल यात्रा

फगवाड़ा की सरला ने बताया कि पति के साथ पिछले 13 साल से माता चिंतपूर्णी के मंदिर पैदल जाती हूं। घर से ही पैदल वहां के लिए निकलते हैं। कई बार बरसात हाेती है ताे कई बार बहुत गर्मी। माता रानी हमेशा दरबार तक सकुशल पहुंचाने में मदद करती हैं। इस बार नहीं जा पाएंगे, लेकिन माता रानी का घर में ही पूजा करेंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Sawan fair will not be held in the court of mother Chintpurni


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2C7bsXN

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages