�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, August 16, 2020

184 बुजुर्गों को परिजनों से मिला चुका है ओल्ड एज होम, 17 गांव किए अडॉप्ट, बांट रहे फ्री दवा


रोजाना के जीवन की भाग दौड़ में बच्चों के पास अपने माता पिता तक को संभालने का समय नहीं है, इस कारण अकसर देखने में आता है कि समय न मिलने या घर में कलह से बचने के लिए बच्चे अपने माता-पिता को वृद्ध आश्रमों में छोड़ देते हैं। इन्हीं वृद्ध आश्रमों में से एक आश्रम गुरदासपुर में ओल्ड एज होम के नाम से काम कर रहा है। तीन एकड़ में बने इस वृद्ध आश्रम की शुरूआत 5 अक्तूबर 2013 को हुई थी, इसका उद्घाटन पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल व पूर्व राज्य मंत्री डॉ. अश्विनी कुमार ने किया था। आश्रम की संभाल हेल्प एज इंडिया एनजीओ कर रही है। आश्रम के मैनेजर दविन्दर सिंह ने बताया कि उनके पास इस समय 28 बुजुर्ग हैं, जबकि 184 के करीब बजुर्गों को उनके परिवार से बातचीत कर और रजामंदी के साथ वापस घर भेजा जा चुका है।

हर माह बांटी जाती है 70 से 80 हजार रुपए की दवाएं

वृद्ध आश्रम में रहने वाले बुजर्गों के स्वास्थ्य का स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखा जाता है। बुजुर्गों को ज्यादातर हडिड्यों के दर्द या फिर चलने फिरने की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके लिए संस्था ने फिजियोथेरेपी का आश्रम में ही इंतजाम कर रखा है। आस पास के गांवों में रहने वाले लोगों की सेहत का भी संस्था पूरा ध्यान रख रही है। संस्था ने 17 गांवों को गोद ले रखा है। संस्था की एक वैन हर रोज इन गांवों में जाकर लोगों का फ्री चेकअप करने के अलावा फ्री दवाएं बांटती है। हर माह इन गांवों में करीब 70-80 हजार रुपए की दवा फ्री दी जाती है।

कोविड-19 के कारण ऑनलाइन गतिविधियां करवाई जा रहीं
मेनेजर ने बताया कि कोविड-19 के कारण आश्रम में किसी के भी आने-जाने पर पाबंदी लगाई गई है। ऐसे में बुजुर्गों के मनोरंजन के लिए ऑनलाइन गतिविधियां कराई जा रही हैं। इसके लिए प्रदेश में चल रहे विभिन्न ओल्ड एज हों के साथ संपर्क किया गया है। इन सेंटरों में रहने वाले बुजुर्गों के साथ यहां के सेंटर के बुजुर्गों को ऑनलाइन मिलाया जाता है। फिर उनकी एक साथ विभिन्न तरह की मनोरंजन गतिविधियां कराई जाती हैं।

सभी बुजुर्गों का एक ही दिन मनाया जाता जन्मदिन

आश्रम में रहने वाले बुजुर्गों का जन्मदिन संस्था की तरफ से साल में एक ही दिन मनाया जाता है। इसके लिए 30 अगस्त की तारीख तय कर रखी है। इस दिन 10 पाउंड का एक केक तैयार करवाया जाता है और सभी बुजुर्ग एक साथ हाल में एकत्र होकर केक काटते हैं। इस दिन सभी के लिए विशेष भोजन भी तैयार करवाया जाता है।




Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
184 elderly people have got old age home, 17 villages have been adopted, distributing free medicine


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Y3cHio

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages