�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, August 28, 2020

बिल्डिंग जर्जर होने से गिरी : 3 लोगों की मौत, निगम कमिश्नर परिवार का दावा-इमारत खस्ताहाल नहीं थी

सुल्तानविंड रोड पर गुरु नानकपुरा में वीरवार मध्यरात्रि बारिश के दौरान तिमंजिला इमारत ढह जाने से तीन लोगों की मौत हो गई। नगर निगम कमिश्नर कोमल मित्तल के अनुसार, गिरने वाली इमारत जर्जर थी जबकि बिल्डिंग मालिक के भाई और पंजाब सीवरेज बोर्ड के चेयरमैन परगट सिंह धुन्ना के बेटे विक्की ने कमिश्नर की बात को गलत बताया है। विक्की के अनुसार, 35 साल पुरानी यह बिल्डिंग खस्ताहाल नहीं थी और हादसा बारिश के दौरान आसमानी बिजली गिरने से हुआ। उधर इस विवाद में कांग्रेस सांसद गुरजीत औजला भी कूद पड़े। औजला ने कहा कि जर्जर बिल्डिंग में किराएदार नहीं रखा जा सकता। वह मामले की जांच के लिए डीसी को लिखेंगे।

गुरु नानकपुरा की गली नंबर-2 में स्थित यह बिल्डिंग बाहर से दो मंजिला थी जबकि अंदर इसमें 3 मंजिले बनी हुई थीं। रात में बारिश के दौरान बिल्डिंग की पिछली साइड अचानक ढह गई। इसकी वजह से यहां रहने वाले किराएदार सन्नी (36), उसकी बेटी गुड्डू (8) और निचली मंजिल में रहने वाले बुजुर्ग लाली (85) की मौत हो गई। सूचना मिलने पर निगम फायर ब्रिगेड की दो और सेवा सोसायटी फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी मौके पर पहुंची। बिल्डिंग के अंदर दाखिल होने के लिए फायर ब्रिगेड मुलाजिमों ने पहले लकड़ी का दरवाजा तोड़ा और फिर हाइड्रोलिक कटर से अंदर से लॉक लोहे के गेट को काटा। इसकी वजह से बचाव कार्य शुरू करने में थोड़ा समय लग गया। तब तक बिल्डिंग में रहने वाले गुड्डू, सन्नी और लाली दम तोड़ चुके थे।

धुन्ना का दावा-हादसा बिजली गिरने से हुआ

औजला बोले- जांच के लिए डीसी को लिखेंगे

बिल्डिंग में बतौर किराएदार रह रहे राजू के मुताबिक करीब डेढ़ महीना पहले मकान मालिक ने बिल्डिंग में कुछ रिपेयर करवाई थी। दूसरी ओर, पंजाब वाटर सप्लाई एंड सीवरेज बोर्ड के चेयरमैन परगट सिंह धुन्ना के बेटे विक्की ने कहा कि उसके चाचा ने रिपेयरिंग नहीं, बल्कि इमारत की रेन वाटर पाइप ठीक करवाई थी।

लोहे के गेट काटकर अंदर पहुंचे दमकल कर्मी, इसलिए बचाव में देरी

बिल्डिंग में लगा लोहे का गेट अंदर से बंद था और बिल्डिंग में जाने का कोई दूसरा रास्ता नहीं था। मौके पर पहुंचे दमकल कर्मचारियों को कटर से गेट काटने में आधा घंटा लग गया इसलिए मलबा हटाने में थोड़ी देरी हुई। हादसे में मारे गए सन्नी की पत्नी नंदनी (30) और उसकी दो बेटियों जिया (12) और पलक (10) को चोटें आई हैं। इन तीनों को गुरु नानकदेव अस्पताल में दाखिल करवाया गया है जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

बिल्डिंग अनसेफ, किराएदार नहीं रखे जा सकते- सांसद औजला
कांग्रेस सांसद गुरजीत औजला शुक्रवार को मौके पर पहुंचे और पीड़ित परिवार से बात की। लोगों से बातचीत के बाद औजला ने कहा कि अनसेफ बिल्डिंग में किराएदार कैसे रखे गए? इसकी जांच के लिए वह डीसी को लिखेंगे।

बिल्डिंग गिरने के कारणों की जांच कर रहे हैं- एएसआई
बिल्डिंग गिरने के कारणों की जांच की जा रही है। इसमें नगर निगम से भी जानकारी ली जाएगी। फिलहाल आईपीसी की धारा 174 के तहत कार्रवाई की जा रही है।
एएसआई नरिंदर सिंह, कार्यकारी एसएचओ



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Building collapses: 3 dead, corporation commissioner family claims building was not decaying


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3bdtKnh

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages