�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, August 3, 2020

कोरोना के डर से इस बार सब जेल के कैदी नहीं कर पाए बहनों का दीदार

भाई-बहन के अटूट प्रेम के प्रतीक राखी के त्यौहार पर फाजिल्का सब जेल में अलग-अलग मामलों में सजा भुगत रहे कैदियों की बहनें अपने भाई को राखी बांधने के लिए नहीं पहुंची। क्याेंकि जेल विभाग ने पहले ही एडवाइजरी जारी कर दी थी कि इस बार राखी बांधने की इजाजत नहीं होगी किंतु राखी की डिलिवरी बंद लिफाफे में की जा सकेगी, जबकि मिठाई की जगह केवल पैक्ड मिश्री ही भेजी जा सकेगी और बंद पैकेटों को सैनिटाइज किया जाएगा।

फिर बाद में विचाराधीन कैदी को दी जाएगी। बता दें कि रक्षाबंधन के त्योहार पर बंदियों की कलाई पर राखी बांधने के लिए दूर-दूर से बहनें जिला जेल पहुंचती हैं। जेल प्रशासन भी इसके लिए बहनों के लिए विशेष इंतजाम करता था। इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते इस बार बहनें बंदी भाइयों के कलाई पर राखी नहीं बांध पाई।

पर्व के दिन पहुंचीं मात्र 6 राखियां

सोमवार सुबह से ही वहां पहुंचने वाले से राखी लेने के बाहर काउंटर लगाया गया। फिजीकल डिस्टेंस के तहत लाइन लगा कर खड़े पारिवारिक सदस्यों से बाहर ही राखी ले ली गई। सोमवार को सब जेल के बंदी साहिल अरोड़ा वासी कंधवाला हजार खां को राखी पहुंचाने के लिए उसकी बहन की जगह उसका साला गौरव अरोड़ा आया।

इसके अलावा बंदी हुस्नप्रीत सिंह पुत्र शिंदा सिंह वासी शतीरवाला को भी उसकी बहन की बजाए उसका साला अमनदीप सिंह वासी इसलामेवाला ही राखी भेजने आया। इसके अलावा हवालाती जोगिंदर सिंह, गुरदीप सिंह को राखी देने सम्मन सिंह मुहार जमशेर, हवालातियों विक्रम सिंह अबोहर, राज सिंह व बलवीर सिंह जोधा भैनी को राखी देने गुरजंट सिंह व बलवीर सिंह जोधा भैनी पहुंचे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Fearing Corona, this time, all the prison inmates were unable to see the sisters


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31cOzLa

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages