�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, August 7, 2020

राष्ट्रीय सेहत मिशन पंजाब के कर्मचारियों ने पक्की नौकरी के लिए सेवाएं जारी रख सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

नेशनल हेल्थ मिशन पंजाब के अधीन काम कर रहे कर्मचारियों का मांगों को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी है। एनआरएचएम यूनियन पंजाब के डाॅ. इंद्रजीत राणा और अमरजीत सिंह की अगुवाई में पंजाब के विभिन्न जिलों और कैडरों के नेता, कमेटी सदस्यों ने प्रदेश स्तरीय मीटिंग में फैसला लिया था कि स्वास्थ मंत्री की अपील का ध्यान में रखते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल को 6 अगस्त तक स्थगित करके रोजाना प्रदेश सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों का विरोध करते हुए एक्टीविटी में तबदील कर दिया था।

मगर अभी भी उनकी मांगों को सरकार ने गंभीरता से नहीं लिया, जिस कारण कर्मचारियों में रोष है। कर्मचारियों ने अन्य राज्यों में रेगुलर किए गए एनएचएम कर्मचारियों का हवाला देते हुए दलीलें पेश की और वह सारे दस्तावेज दिखाए कि कैसे वन टाइम पॉलिसी बनाकर एनएचएम कर्मचारियों को अन्य राज्यों में सीधे तौर पर पक्का किया गया है। उन्होंने मांग की अन्य राज्यों की तर्ज पर पंजाब में एनआरएचएम कर्मचारियों को पक्का किया जाए। कर्मचारियों ने कहा कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं की जाती, तब तक वह रोष जताते रहेंगे।
एनएचएम कर्मचारियों ने काले बिल्ले लगाकर सब सेंटरों में 1.30 बजे सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की। सरकार की नीतियों की पोल खोलते हुए कर्मचारियों ने कहा कि तुरंत प्राथमिकता के आधार पर सभी एनएचएम पंजाब के कर्मचारियों को रेगुलर किया जाए और जब तक सभी एनएचएम कर्मचारी रेगुलर नहीं हा़े जाते तब तक बाहर की जाने वाली नई भर्ती को रोका जाए। इस मौके पर डाॅ. प्रभजोत काैर, गुरजिंदर सिंह, बलजीत काैर, मनोज कुमार, मनजिंदर सिंह व अन्य शामिल थे।

डेरा बाबा नानक में भी कर्मियों ने जताया रोष

राष्ट्रीय सेहत मिशन पंजाब के कर्मचारियों ने मांगों को लेकर अपना काम जारी रख सरकार के खिलाफ रोष जताया। नर्सिंग ऑफिसर शगनदीप कौर ने बताया कि कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर 7 अगस्त को मुकमल काम बंद करने की चेतावनी दी थी।
कर्मचारी नेताओं ने मीटिंगों के जरिए पहले सेहत मंत्री और फिर मुख्यमंत्री तक अपनी मांगें पहुंचाने की कोशिश की, जहां वे सफल हुए। इसी तहत 4 अगस्त को मुलाजिम नेता डॉ. इंद्रजीत सिंह राणा और अमरजीत सिंह को दफ्तर डायरेक्टर सेहत सेवाएं चंडीगढ़ में पैनल मीटिंग के लिए बुलाया गया था। मीटिंग में सेहत मंत्री और विभागीय अधिकारियों के समक्ष एसोसिएशन के नेताओं ने साफ कर दिया कि उनको रेगुलाइजेशन से कम कुछ भी मंजूर नहीं है।

तब सेहत मंत्री ने कर्मचारियों को रेगुलर करने के लिए हां कर दी है और राष्ट्रीय सेहत मिशन मुलाजिमों को रेगुलर करने संबंधी पॉलिसी पर काम करने के लिए 15 दिन के समय की मांग की है। उन्होंने बताया कि सरकार की अपील पर मुकमल बंद करने की 7 अगस्त की काल फिलहाल मुलतवी कर दी गई है लेकिन काम के साथ-साथ कर्मचारियों का रोजाना प्रदर्शन मांगें मंजूर किए जाने तक जारी रहेगा। इस मौके नर्सिंग अफसर पिंदरजीत कौर, कुलविंदर कौर, जसविंदर कौर, हरपाल सोढी, प्रियंका भंडारी, रमनदीप कौर, नवनीत कौर और अन्य कर्मचारी मौजूद थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
National Health Mission Punjab employees protest against the government by continuing their services for a permanent job


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31yHrJ9

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages