�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, September 25, 2020

जिले में 18 जगह धरना, मेडिकल सुविधाओं की थी छूट, समर्थन में बंद रही

कृषि बिलों के विरोध में शुक्रवार को 31 किसान, मजदूर संगठनों के पंजाब बंद के आह्वान को कपूरथला में पूर्ण समर्थन मिला। जिले में बाजार, बसें और हाईवे पूरा दिन बंद रहे। हालांकि मेडिकल सुविधाओं को छूट थी लेकिन मेडिकल स्टोर की दुकानें बंद रही।

जिले में किसानों, आढ़तियों, मजदूरों के साथ सामाजिक जत्थेबंदियों सहित शिरोमणि अकाली दल, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी व अन्य दलों के नेताओं ने 18 स्थानों पर धरना प्रदर्शन कर यातायात ठप्प रखा। कृषि बिलों के विरोध में कांग्रेस व शिअद के नेता किसानों व किसानी को बचाने में किसान जत्थेबंदियों का साथ दे रहे हैं।

धरना प्रदर्शन में लगे झंडों से पार्टियों का विरोध कम पार्टी रैली अधिक दिख रही थी। धरनों में केंद्र सरकार की ओर से लगाए कृषि बिलों के विरोध में आने वाले दिनों में संघर्ष को और तेज करने की चेतावनी भी दी गई। किसान नेताओं ने कहा कि इन कृषि बिलों से किसान बर्बाद हो जाएगा, क्योंकि वे पहले ही कर्ज में दब कर आत्महत्या कर रहे हैं। सरकार उनकी मदद करने की बजाय उन पर कड़े से कड़े कानून ला रही है। जिसका पूरे देश भर में विरोध हो रहा है।


किसान जत्थेबंदियों ने हमीरा जीटी रोड और अमृतसर-जालंधर मार्ग पर भरतीय किसान यूनियन राजेवाल ने धरना दिया। एसजीपीसी की पूर्व प्रधान जागीर कौर की अगुवाई में सुभानपुर जीटी रोड पर धरना दिया। कांग्रेस हल्का इंचार्ज रणजीत सिंह राणा की अगुवाई में भुलत्थ में धरना दिया गया।

युवा नेता गोरा गिल की अगुवाई में नडाला में और कपूरथला में अनाज मंडी के बाहर विधायक राणा गुरजीत सिंह अगुवाई में धरना दिया गया। शिअद हल्का इंचार्ज एडवोकेट परमजीत सिंह की अगुवाई में जालंधर बाइपास पर और यूथ अकाली दल के जिला प्रधान रणजीत सिंह खोजेवाल की अगुवाई में पीटीयू के पास धरना लगाया गया।

सुल्तानपुर लोधी में शहीद ऊधम सिंह चौक, फत्तूढींगा व तलवंडी चौधरियां और फगवाडा में नई दाना मंडी होशियारपुर रोड में धरना दिया गया। किसानों ने काली झंडियां लगाकर ट्रैक्टरों पर मार्च निकालकर कृषि बिलों का विरोध किया।

रेल कोच फैक्ट्री इंप्लाइज यूनियन ने किसानों के हक में निकाली बाइक रैली

आरसीएफ के कर्मचारियों ने बाबा साहिब भीमराव अंबेडकर चौक से आरसीएफ हॉल्ट तक रोष रैली कर देश के किसानों के हक में आवाज बुलंद की। आरसीएफ हॉल्ट पर बड़ी संख्या में किसानों, कर्मचारियों और नौजवानों को संबोधित करते हुए किसान नेता अवतार तारी बिहारीपुर ने कहा कि सरकारों की पूंजीपतियों के पक्ष में नीतियों के कारण खेती घाटे का सौदा बन चुकी है।

रेल कोच फैक्ट्री इंप्लाइज यूनियन के अध्यक्ष परमजीत सिंह खालसा, सचिव सर्वजीत सिंह, कैशियर मंजीत सिंह बाजवा, मेंबर आरसीएफ बचाओ संघर्ष कमेटी उमाशंकर ने कहा कि मोदी सरकार पूंजीपतियों की चाकरी करते हुए मजदूरों, किसानों, नौजवानों, कर्मचारियों और सार्वजनिक विभागों पर हमला किया जा रहा है, जिसके खिलाफ मजदूरों, किसानों, नौजवानों, कर्मचारियों के एकजुट होने की जरूरत है।

इस दौरान जीत सिंह, सुखबीर सिंह, आरसी मीणा, पीके कौशल, राजविंदर सिंह सरपंच, देव सुनेहा, दलजीत सिंह थिंद, हरविंदर पाल, नरेंद्र कुमार, इंद्रजीत सिंह रूपोवाली, रोशन खैड़ा, सुनील कुमार तलविंदर सिंह, तरलोचन सिंह, शरणजीत सिंह, प्रदीप सिंह, अरविंद शाह, अजैब सिंह, जसपाल सिंह सेखों, अमरीक सिंह गिल, तलवारा सिंह, उज्ज्वल सिंह शामिल थे।

कपूरथला शहर का बंद बाजार।

बाजारों में सन्नाटा छाया, किसी दल ने जबरी दुकानें नहीं बंद करवाई


कपूरथला शहर का बंद बाजार।

कृषि बिलों के विरोध में कपूरथला शहर के सभी बाजार, बस स्टेंड, दुकानें व मार्केट बंद रही। मेडिकल दुकानें खोलने की छूट थी लेकिन दुकानदारों ने दुकानें बंद रख कर किसानों को समर्थन दिया। बाजारों में सन्नाटा छाया रहा। दुकानदारों ने सुबह से ही दुकानें बंद की हुई थी। अगर किसी ने दुकान खोलने की कोशिश भी की तो उसने भी देख कर बंद कर दिया। धरने पर बैठे किसी भी दल ने जबरी दुकानें बंद नहीं करवाई। लोगों ने खुद ही अपनी दुकानें बंद रखी।

लोगों की सुरक्षा में सड़कों-चौकों में एक हजार पुलिस कर्मी रहे तैनात


कपूरथला के फव्वारा चौक में तैनात पुलिस।

जिले में किसानों के धरने के दौरान कोई अप्रिय घटना न हो, इसके लिए लोगों की सुरक्षा में 1 हजार से अधिक पुलिस कर्मचारियों की तैनाती की गई थी। कहीं से भी कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। कपूरथला के फव्वारा चौक में डीएसपी सबडिवीजन कपूरथला सुरिंदर सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम तैनात रही। पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने दिनभर असामाजिक व संदिग्ध लोगों पर अपनी पैनी नजर बनाए रखी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
कांग्रेस, शिअद, आप और बसपा ने किसानी को बचाने के लिए धरना देकर कृषि विधेयकों का किया विरोध


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2S1ohqM

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages