�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, September 7, 2020

लोन के पैसे कम देने पर फाइनेंसर ने मारी थी सुखनप्रीत सिंह सिद्धू को गोली, 24 घंटे में यूथ अकाली दल के नेता के कत्ल की गुत्थी सुलझी, आरोपी काबू

5 सितंबर की रात यूथ अकाली दल के सीनियर उपप्रधान सुखनप्रीत सिंह संधू की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने 24 घंटे में सुलझा लिया है। पुलिस ने सुखनप्रीत सिंह की गोली मारकर हत्या करने वाले आरोपी को अरेस्ट कर लिया है। जिसकी पहचान संजय ठाकुर उर्फ सम्मी पुत्र उमेश कुमार वासी गली नंबर 30/4 प्रताप नगर के तौर पर हुई है, जो फाइनेंस का काम करता है और यूथ अकाली नेता सुखनप्रीत ने उससे तीन लाख रुपए लोन लिया था।

जिसमें सुखनप्रीत ने एक लाख रुपए देने थे, लेकिन वह सिर्फ 40 हजार रुपए देने के लिए शम्मी के पास पहुंचा। जहां पैसों के लेन-देन को लेकर दोनों में बहस हुई और शम्मी ने संधू का पिस्तौल छीनकर उस पर ही गोली दाग दी। पुलिस ने आरोपी का रिमांड हासिल कर आगे की पूछताछ शुरू कर दी है।
जानकारी के अनुसार 5 सितंबर को शम्मी ठाकुर ने लोन के पैसे देने के लिए सुखनप्रीत को दिन में कई फोन किए थे। जिसके बाद वह शम्मी की बताई जगह पर पोखरमल कंटीन के पास रात साढ़े 9 बजे के करीब अपनी एक्टिवा पर पहुंच गया। शम्मी पैदल ही अपने सुर्खपीर रोड गली नंबर 1 में बने आफिस से सुखनप्रीत सिंह के पास पहुंचा और एक्टिवा पर पीछे बैठ गया।

दोनों पैसों की लेन-देने का हिसाब करने के लिए ठंडी सड़क पर स्थित शिव मंदिर के पास से निकलती सड़क पर पहुंच गए। यहां सुखनप्रीत 40 हजार रुपए निकालकर शम्मी को देने लगा तो पैसे कम होने पर शम्मी भड़क गया। गुस्से में आए सुखनप्रीत ने अपना पिस्तौल निकाला तो शम्मी ने उसका पिस्तौल छीनकर उसके सिर में गोली मार दी और फरार हो गया।

पुलिस ने घटना स्थल पर मिले मृतक सुखनप्रीत के मोबाइल नंबर की काल डिटेल निकलवाई। जिसमें शम्मी ने सुखनप्रीत को कई फोन किए थे। वारदात वाली जगह पर शम्मी के मोबाइल फाेन की लोकेशन कुछ समय बाद बंद हो गई। जिसके बाद पुलिस की शक की सूई शम्मी की ओर जाने पर, उसे धर दबोचा और उसने जुर्म कबूल कर लिया।

किश्त पूरी नहीं देने पर दोनों में हुई थी हाथापाई
एसएसपी भूपिंदरजीत सिंह विर्क ने बताया कि आरोपी संजय कुमार उर्फ सम्मी ठाकुर से सुखनप्रीत सिंह संधू ने करीब तीन साल पहले 3 लाख रुपए का लोन लिया था, जिसमें से सुखनप्रीत की शम्मी को एक लाख रुपए देने की बात हुई थी, लेकिन वह घटना वाली रात घर से सिर्फ 40 हजार रुपए लेकर चला आया।

यहां पैसों के लेन-देन को लेकर दोनों में हाथापाई हो गई और शम्मी ठाकुर ने सुखनप्रीत का पिस्तौल छीनकर उसके सिर पर गोली मार दी और पिस्तौल और 40 हजार रुपए की नकदी लूटकर फरार हो गया। घटना के बाद आरोपी अपनी पत्नी को दिल्ली छोड़ने चला गया। वापस आते 7 सितंबर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी से पिस्तौल और 30 हजार रुपए बरामद कर लिए जबकि 10 हजार रुपए आरोपी ने दिल्ली जाने के लिए खर्च कर दिए गए हैं।

यह था मामला : पिस्तौल व 40 हजार भी लूट लिए थे
एसएसपी भूपिंदरजीत सिंह विर्क ने कहा कि 5 सितंबर की रात 10 बजे के करीब लाल सिंह बस्ती गली नंबर 9 के निवासी सुखनप्रीत सिंह संधू की अज्ञात व्यक्ति ने उसी की पिस्तौल से गोली मारकर हत्या कर दी थी और वारदात के बाद पिस्तौल और 40 हजार रुपए लूटकर फरार हो गया था। हत्या की इस गुत्थी को सुलझाने के लिए एसपी डी गुरविंदर सिंह संघा, एसपी सिटी जसपाल सिंह, डीएसपी सिटी-1 गुरजीत रोमाणा के नेतृत्व में सीआईए-2 के इंचार्ज तरजिंदर सिंह व एसएचओ कैनाल चमकौर सिंह की अलग-अलग टीमों का गठन किया गया। सीआईए-2 की टीम में एसआई जगरूप सिंह, एएसआई हरिंदर सिंह व एएसआई मोहनदीप बंगी को शामिल किया गया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Financier shot Sukhanpreet Singh Sidhu for giving loan money down, 24 hours of murder of youth Akali Dal leader solved


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3i9GZrU

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages