�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Saturday, September 5, 2020

कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने के लिए मोबाइल सैंपलिंग वैन शुरू, सेहत विभाग का बेहतरीन प्रयास, सिर्फ 30 मिनट में मिलेगी जांच रिपाेर्ट

जिला सेहत विभाग की ओर से मोबाइल वैन (मोबाइल टीम) सेवा की शुरुआत की गई है। मोबाइल वैन टीम संवेदनशील इलाकों में जाकर नमूनों ले सकेगी। मोबाइल वैन टीम द्वारा शुक्रवार को मुल्तानिया रोड पर स्थित डीडी मित्तल टावर व नजदीक इलाके से करीब 100 से अधिक कोरोना संदिग्धों के सैंपल लिए गए। सैंपलों की जांच कर रिपोर्ट मात्र 30 मिनट में दी। सेहत विभाग की ओर से कोरोना वायरस के संक्रमण को प्रभावी तरीके से रोकने के लिए जिले में कोविड-19 सैंपलिंग वैन टीम शुरू की गई है।

विभाग द्वारा दो मोबाइल वैन टीम तैयार की गई है। एक टीम में 5 कर्मचारी तैनात हैं, टीम में शामिल कर्मचारियों द्वारा पहले क्षेत्र का सर्वे किया जाता है, सर्वे में 40 से अधिक उम्र वाले विभिन्न बीमारियों से पीड़ित मरीजों की पहचान की जाती है, उसके बाद टीम द्वारा उक्त क्षेत्र में सैंपलिंग का कार्य किया जाता है। संक्रमित मरीजों के पहचान के लिए 15 दिवसीय विशेष अभियान का शुभारंभ किया गया है। अभियान के अंतर्गत प्रति टीम 2500 कोरोना सैंपलिंग का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
हाई रिस्क क्षेत्र में पहुंचेगी सैंपलिंग टीम
स्वास्थ्य विभाग ने इसे कोविड-19 सैंपलिंग मोबाइल वैन टीम का नाम दिया है। इसका इस्तेमाल उस क्षेत्र में अधिक किया जाएगा जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने की संभावना अधिक है। अगर अब मरीज मिल जाता है तो वहां के लोगों को अस्पताल में नहीं आना पड़ेगा बल्कि मोबाइल टीम अपने आप ही उसी क्षेत्र में पहुंच जाएगी। विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को अस्पताल में आकर अपना टेस्ट करवाना पड़ा है।

रिस्क वाले क्षेत्र से आने वाले लोगों के कारण कई लोग कोरोना संक्रमित भी हो सकते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाया गया है। जिले में कहीं भी पॉजिटिव मिलता है तो उसके क्षेत्र में भी टीम द्वारा सर्वे किया जाएगा और उस क्षेत्र के सभी संदिग्धों की सैंपलिंग की जाएगी। उस समय इस टीम की सुविधा काफी उपयोगी रहेगी। दूर-दूराज तक के संदिग्ध मरीज की जानकारी मिलने पर उसे अस्पताल लाने की बजाए मौके पर ही सैंपल ले सकेंगे।

जिला टीकाकरण अफसर डा. कुंदन कुमार पाल ने बताया कि शुक्रवार को मोबाइल टीम द्वारा 100 से अधिक सैंपलिंग की गई, सिविल अस्पताल के फ्लू कार्नर में मेडिकल टीम द्वारा 259 और रैपिड से 394 लोगों के सैंपल लिए गए। कुल 753 सैंपल लिए गए। उन्होंने बताया कि मोबाइल वैन के जरिए क्षेत्र में प्रतिदिन 100 से अधिक सैंपलिंग की जा सकेगी। इससे हम अधिक से अधिक लोगों की जांच कर सकेंगे।

सरकारी में मुफ्त, निजी अस्पतालों में 250 में टेस्ट

लोग अब आधार व मोबाइल नंबर बताकर कोरोना जांच के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) करवा सकेंगे। सरकारी अस्पतालों व मोबाइल वैन में वाक-इन टेस्टिंग मुफ्त होगी, जबकि निजी अस्पतालों को 250 रुपए प्रति टेस्ट के खर्च पर टेस्ट करवाया जा सकेगा। चीफ सेक्रेटरी विनी महाजन ने अमृतसर, लुधियाना, जालंधर, मोहाली, पटियाला के साथ-साथ बठिंडा जिला के डिप्टी कमिश्नर व सिविल सर्जन से दो दिन पहले कोविड की स्थिति का जायजा लिया था। उन्होंने आरएटी टेस्टिंग करवाने के लिए निर्देश भी जारी किए। यहां एकत्र किए गए टेस्ट के नतीजों और डेटा को अगली कार्रवाई के लिए सरकारी पोर्टल पर अपलोड करना जरूरी होगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/32YOgVa

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages