�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Tuesday, September 15, 2020

ड्रग इंस्पेक्टर बबलीन कौर समेत 305 नए पॉजीटिव, 7 और मौतें

सितंबर महीने का पखवाड़ा यानी 15 दिन संक्रमण के मामले में अगस्त से पहले के 5 महीनों पर भारी रहा। इन दिनों में उतनी मौतें हो चुकी हैं, जितनी कि पूरे महीने में नहीं होती रही हैं। खैर, मंगलवार को इस माह के 15 दिन 7 लोगों की मौत हुई है और 305 नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। पॉजीटिव आने वालों में ड्रग इंस्पेक्टर बबलीन कौर भी शामिल हैं।

सितंबर महीने में कोरोना का संक्रमण शीर्ष पर है। मंगलवार को इस महीने में दूसरी पार 300 से अधिक मरीज रिपोर्ट हुए हैं। इससे पहले 9 सितंबर को 347 मामले आए थे। 15 दिनों की बात करें तो इस दौरान कुल 2936 लोग पॉजीटिव आ चुके हैं और मरने वालों की तादाद 106 पहुंच गई है, जबकि अप्रैल से अगस्त महीने तक कुल संक्रमित 4042 थे और मौतें 165 रही हैं।

सेहत विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक जिले में कुल संक्रमित 6978 हो चुकी है और मरने वालों की संख्या 271 पहुंच चुकी है। अब तक कुल 5067 मरीज ठीक हुए हैं। अस्पतालों में 1640 का इलाज चल रहा है। मंगलवार को पॉजीटिव मरीजों में 170 कम्युनिटी से हैं, जबकि 135 संपर्क वाले। मंगलवार को 132 लोगों को अस्पताल से छुट्टी भी मिली है।

मरने वालों में तीन पुरुष, 4 महिलाएं

रणजीत कौर (62) निवासी छेहर्टा की मौत जीएनडीएच में हुई। उनको कोविड-निमोनिया के साथ सांस की भी दिक्कत थी। जीएनडीएच में दाखिल लवप्रीत सिंह (24) निवासी अजनाला की भी मौत हो गई है। उन्हें निमोनिया थ। सुरजीत सिंह (74) निवासी मजीठा की जीएनडीएच में मौत हो गई है। उन्हें निमोनिया के अलावा हाइपरटेंशन की दिक्कत थे। रामा कुमारी (62) निवासी वेरका की मौत जीएनडीएच में हुई। उन्हें हाइपरटेंश और निमोनिया था।

बलजिंदर कौर(50) निवासी कटड़ा कर्म सिंह की मौत जीएनडीएच में हुई। वह हाइपरटेंशन और निमोनिया से पीड़ित थीं। मंगलवार को हरि वर्मा (52) निवासी शास्त्री नगर छेहर्टा की मौत ईएमसी अस्पताल में हुई। उन्हें कोविड-निमोनिया था। गुरमीत कौर (65) निवासी गुमटाला की मौत मेडिकेड अस्पताल में हुई है, वह भी निमोनिया ग्रस्त थीं।

पाक से आए 350 लाेग, 90% का टेस्ट नहीं

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान कोरोना टेस्टिंग को गंभीरता से नहीं ले रहा है। इसका नमूना मंगलवार को अटारी-वाघा बॉर्डर के जरिए पाक से आए लोगों की टेस्टिंग रिपोर्ट से पता चलता है। यहां पहुंचे 350 लोगाें में से 90 फीसदी के टेस्ट नहीं किए गए थे। इसलिए सेहत विभाग को यहां पर उनका टेस्ट करना पड़ा। दरअसल लॉकडाउन में पाक में 400 लोग फंसे थे। इनमें 363 पाकिस्तानी मूल के भारती नागरिक (नान ऑब्जेक्शन टू रिटर्न टू इंडिया वीजा धारक) हैं, जबकि 37 भारतीय हैं। 50 लोग बुधवार को लौटेंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
305 new positives including drug inspector Bablin Kaur, 7 more deaths


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3c3Sq23

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages