�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Saturday, September 12, 2020

जेईई मेंस में सिद्धार्थ चौधरी ने हासिल किए 99.8 परसेंटाइल

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा करवाए गए जेईई मेंस में डीसी मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल के 8 विद्यार्थियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए जहां जिले में अव्वल रहे हैं व उच्च रैंक प्राप्त कर इंजीनियर बनने के सपने को साकार करने की तरफ मजबूत कदम आगे बढ़ाया है। हेड सीनियर सेकेंडरी ललित मोहन गुप्ता ने बताया कि स्कूल के विद्यार्थी सिद्धार्थ चौधरी ने 99.8 परसेंटाइल हासिल कर स्कूल व जिले का नाम रोशन किया है।

उन्होंने बताया कि ओवरऑल रेटिंग में सिद्धार्थ ने 370वां रैंक प्राप्त किया है। उन्होंने बताया कि अन्य विद्यार्थियों में गविश गर्ग ने 99.4, प्रथम भटिया ने 96.83, महक गुप्ता ने 96.79, पारूष ने 96.37, पाहुलदीप सिंह ने 95.43, वैभव बांसल ने 95.46 व अक्षित सिंगला ने 90.6 परसेंटाइल अंक हासिल किया है। विद्यार्थियों ने कहा कि स्कूल की उच्च स्तरीय बेहतरीन शिक्षा पद्धति व अध्यापकों के अनुभव के कारण ही वे अपने सपनों को साकार कर पाएं हैं।

सिर्फ पढ़ाई पर फोकस किया

सिद्धार्थ ने कहा सिर्फ पढ़ाई पर फोकस किया, दिन-रात मेहनत कर अध्यापकों के बताए रास्ते व नियमों के अनुसार ही पढ़ाई की। उसके पिता पेशे से अध्यापक हैं और उसके हर सपने को साकार करने में पूरी मदद कर रहे हैं। प्रिंसिपल ने कहा अध्यापकों की मेहनत से विद्यार्थियों ने अच्छे अंक हासिल किए हैं।

स्कूल अलग बैच बना करवाता है तैयारी

स्कूल की तरफ से जब विद्यार्थी प्लस वन में आते हैं हम बच्चे की कैचिंग पॉवर देखते हैं उसके आधार पर बच्चों का एक ग्रुप बनाते हैं और उनको जेईई, नीट, एनडीए व यूपीएसई आिद प्रतियोगिताओं की तैयारी करवाते हैं। अलग से क्लास भी लगाते हैं ताकि बच्चों को सफलता हासिल हो सके।

सिद्धार्थ बोले-मेरे घर में कोई इंजीनियर नहीं, इसलिए मैंने यह रास्ता चुना

अभिभावक राजिन्द्र प्रसाद, अश्विनी गर्ग, विनोद भाटिया, सुनीत कुमार, हरभिन्द्र सिंह, संजीव कुमार, पंकज कुमार व राजीव कुमार ने डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स द्वारा विद्यार्थियों को सीमावर्ती क्षेत्र होने के बावजूद मुहैया करवाई जा रही आधुनिक शिक्षा तथा हर प्रतियोगात्मक परीक्षाओं की तैयारी के लिए दी जा रही कोचिंग की तारीफ की है।

उन्होंने कहा कि स्कूल के अनुभवी अध्यापकों की बदौलत ही उनके बच्चे इस मुकाम को हासिल कर पाए हैं। इन सभी विद्यार्थियों ने बिना किसी कोचिंग के मात्र स्कूल द्वारा दी गई शिक्षा से ही अच्छे परसेंटाइल प्राप्त किए हैं। विद्यार्थी सिद्धार्थ चौधरी ने कहा कि उसके घर में अब तक किसी ने भी इंजीनियरिंग नहीं की है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/35wUDla

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages