�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, September 20, 2020

पंचायत मेंबर ने पुलिस कर्मचारी पर लगाए बिना वजह मारपीट करने और अंगुली तोड़ने के आरोप

फाजिल्का के गांव वल्ले शाह उताड़ उर्फ नूरशाह निवासी एक व्यक्ति ने पुलिस पर बेवजह पीटने के आरोप लगाए हैं। सिविल अस्पताल फाजिल्का में उपचाराधीन पंचायत मेंबर पीड़ित राकेश सिंह निवासी गांव वल्ले शाह उताड़ ने बताया कि वह गांव की वार्ड नंबर एक का पंचायत मेंबर है।

उसने बताया कि 18 सितंबर को रात 10 बजे जब वह अपने खेत में चक्कर लगाने गया तो उसके सगे भाईयों रघुवीर सिंह, बलिहार सिंह, सुखचैन सिंह, पिता भगवान सिंह व भतीजों सुरिंदर सिंह व सफल सिंह वासी वल्ले शाह उताड़ उसके साथ गाली-गालौज करने लगे और उसके साथ झगड़ा करने लगे जिसके चलते वह वहां से घर चला गया।

अगले दिन सुबह 10 बजे जब वह लेबर को लेकर मौके पर पहुंचा तो उक्त व्यक्तियों ने उसके साथ मारपीट कर भगा दिया।
इसके अलावा उक्त आरोपी उसके घर आकर उसके साथ झगड़ा करने लगे। उसने अपने भाई के साथ हुए झगड़े की शिकायत थाना सदर फाजिल्का में दी थी, परन्तु उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद जब शनिवार सुबह को उसका भाई दोबारा उसके साथ झगड़ा करने लगा तो उसने पंजाब पुलिस के हेल्पलाइन नंबर 112 पर शिकायत दर्ज करवाई।
उसके द्वारा की शिकायत के बाद दो पुलिस कर्मचारी मौके पर आए और उसके द्वारा बताए आरोपियों को पकड़ने की बजाय प्रवीन सिंह नामक व्यक्ति को पकड़ कर थाने ले जाने लगे। जब उसने उनको ऐसा करने से रोका तो वह कर्मचारी उसके साथ बुरा व्यवहार करने लगे।

इसके बाद उस के साथ धक्केशाही होते देख उसने अपने मोबाइल पर उन कर्मचारियों की वीडियो बनानी चाही तो कांस्टेबल दीपक कुमार उसके साथ मारपीट करने लगा। उन्होंने कर्मचारियों द्वारा उसके हाथों से मोबाइल छीन लिया और मोबाइल छीनने के दौरान उसकी एक अंगुली तोड़ दी।

उसने यह भी बताया कि इसके बाद भी कुछ अन्य पुलिस कर्मचारी उनके घर गए और उसके पारिवारिक सदस्यों को नाजायज परेशान करने लगे। पीड़ित पंचायत मेंबर ने उसके साथ मारपीट करने और उनके साथ धक्केशाही करने वाले पुलिस कर्मचारियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करके उसको इंसाफ दिलाने की मांग की है।
सभी आरोप झूठे हैं : कांस्टेबल दीपक कुमार
कांस्टेबल दीपक कुमार का कहना था कि मौके पर जाकर देखने पर कार्रवाई करने के हालात नहीं थे जबकि राकेश सिंह उनसे कहने लगा कि वह उनको उठाकर ले जाए। इसके अलावा उक्त व्यक्ति उसकी वीडियो बनाने लगा। जब उसने उसे वीडियो बनाने से रोका तो वह उल्टा उस पर ही आरोप लगाने लगा कि वह प्राइवेट गाड़ी लेकर आए हैं।

जबकि 112 की कंप्लेट पर उनको जल्द जवाब देना होता है। इसलिए वह प्राइवेट गाड़ी पर ही आए थे। दीपक कुमार के अनुसार मौके पर उसके भाईयों को समझाने पर वह बात मानने को तैयार हुआ जबकि राकेश सिंह कार्रवाई करवाने पर अड़ा हुआ था और बहस करने लगा कि वह क्यों कार्रवाई नहीं करते। किंतु वह वापस थाना सदर चले आए और एसएचओ को मामले की जानकारी दी है। उन पर लोग आरोप झूठे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सिविल अस्पताल में उपचाराधीन राकेश सिंह जख्म दिखाता हुआ।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/35Sdnfe

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages