�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, September 20, 2020

कृषि विधेयक रद्द करवाने को फाजिल्का, जलालाबाद के कस्बों में किसानों ने फूंके केंद्र सरकार के पुतले

मोदी सरकार द्वारा लोकसभा में पास किए कृषि विधेयक रद्द करवाने के लिए समूह जत्थेबंदियों के आह्वान पर भारतीय किसान यूनियन (एकता सिद्धूपुर) द्वारा गांव बाघेवाला, चक्कपक्खी, अरनीवाला और कई अन्य गांवों में प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंक कर विरोध प्रदर्शन किया गया।

इस संबंधी जानकारी देते भाकियू (एकता सिद्धूपुर) के जिला प्रधान प्रगट सिंह चक्कपक्खी ने बताया कि फसलों का सही रेट न मिलने से देश का किसान पहले ही कर्ज के नीचे दबा आत्महत्याएं कर रहा है और ऊपर केंद्र की सरकार द्वारा किसान विरोधी कानून लागू करके देश के किसानों को बर्बाद किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कृषि ऑर्डिनेंस के खिलाफ देश की सभी किसान जत्थेबंदियां एक मंच पर एकत्रित होकर विरोध प्रदर्शन कर रही हैं और किसान जत्थेबंदियों द्वारा यह अंदेशा प्रकट किया जा रहा था कि इस ऑर्डिनेंस के पास होने के बाद केंद्र सरकार कुछ वर्षों के बाद में फसलों का कम से कम समर्थन मूल्य बंद कर सकती है।
किसानों का कहना है कि वह ऑर्डिनेंस को रद्द करवाने के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन कर रहे हैं। यदि यह ऑर्डिनेंस पास हो जाता है तो इससे किसान बर्बादी की तरफ चले जाएंगे। फसल की खरीद मंडियों की अपेक्षा टूट जाने पर प्राइवेट कंपनियां मनचाहे रेट पर उनकी फसल खरीदेगी।

उन्होंने कहा कि किसान जत्थेबंदियों द्वारा 25 सितंबर को पंजाब बंद का एलान किया गया है, इस दौरान उन्होंने लोगों से रेल रोको आंदोलन में सहयोग मांगा जिससे यह ऑर्डिनेंस रद्द करवाए जाएं। इस मौके पर किसान नेता उदय सिंह घुड़ियाना, गुरमेल सिंह बाघेवाला, लखविन्दर सिंह, नवनीत फरवांवाली, और अन्य किसान मौजूद थे।
जलालाबाद में कांतिक्रारी किसान यूनियन ने किया प्रदर्शन

क्रांतिकारी किसान यूनियन पंजाब द्वारा गांव गामूवाला तथा गांव पीरे में कृषि विधेयक तथा बिजली संशोधन बिल 2020 के खिलाफ प्रदेश उपाध्यक्ष रेशम मिड्ढा की अगुवाई में अर्थी फूंक प्रदर्शन किया गया। रेशम मिड्ढा ने बताया कि मोदी सरकार कोरोना की आड़ में भारत के किसानों को उजाड़ने के लिए तीनों ऑर्डिनेंस लाई है।

कानून के बनने से भारत में मंडीकरण का खात्मा हो जाएगा। इससे किसानों का आर्थिक नुकसान होगा। किसान नेता ने कहा कि भारत का किसान पहले ही कर्ज की मार के कारण आर्थिक तौर पर परेशान है। इसी तरह गांव पीरे के में भाकियू तथा क्रांतिकारी यूनियन ने संयुक्त रूप से केन्द्र के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया।

यहां किसान नेताओं ने कहा कि भारत की लगभग 260 किसान जत्थेबंदियों द्वारा 25 सितंबर को भारत बंद का आह्वान किया गया है। इस दौरान रूलिया सिंह, इकबाल सिंह, बिट्टू, प्रेम सिंह, केहर सिंह, करनैल सिंह, कश्मीर सिंह, बलविंदर सिंह आदि लोग मौजूद थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाजिल्का में विभिन्न जगहों पर मोदी सरकार के पुतला फूंकते हुए किसान संगठन।
गामूवाला गांव में केंद्र के खिलाफ प्रदर्शन करते क्रांतिकारी किसान यूनियन के नेता व अन्य।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hIHLek

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages