�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, October 30, 2020

मौत के 18 घंटे बाद भी नहीं हो पाया शव का पोस्टमार्टम

भास्कर न्यूज |
जिले में एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण एक मृतक परिवार के लोगों को शव का पीएम कराने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ा। महिला के शव को 18 घंटे तक मरच्यूरी में रखने के बाद महिला डॉक्टर के नहीं होने की बात कहते हुए पीएम के लिए शव को दूसरे अस्पताल भेज दिया गया। पीएम के लिए दूसरे अस्पताल जाने की बात कहे जाने पर मृतका के परिजन भड़क गए थे। मामला के तुल पकड़ने पर स्वास्थ्य विभाग इस मामले में स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने की बात कह रहा है। मामला जिले के फरसाबहार अस्पताल का है।
बागबहार के डुमरमुंडा गांव की निवासी बेरोबाई (70) परिजनों से मिलने के लिए फरसाबहार थाना क्षेत्र के बरहाटुकू गांव गई थी। परिजन ने बताया कि 27 अक्टूबर को वृद्वा अचानक घर से लापता हो गई। उसकी पतासाजी में लोग जुटे हुए थे। पता ना चलने पर इसकी सूचना फरसाबहार पुलिस को दी गई थी। गुरुवार की दोपहर फरसाबहार पुलिस ने लापता वृद्धा का शव गांव के बाहर स्थित एक खेत में पानी में डूबा हुअा मिला। पंचनामा की कार्रवाई करने के दौरान शाम हो जाने के कारण पुलिस ने शव के पोस्टमार्टम के लिए फरसाबहार के मरच्यूरी में रखवा दिया था।
शुक्रवार को जब मृतिका के पीएम करने बात सामने आई तो फरसाबहार के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सकों ने अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए महिला चिकित्सक उपलब्ध ना होने की जानकारी देते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए पत्थलगांव ले जाने की सलाह देते हुए रेफर पर्ची मृतका के परिजनों को थमा दी। लगभग 18 घंटे तक शव को अस्पताल में रखने के बाद चिकित्सकों के इस फरमान से परिजन भड़क गए। जिसके बाद परिजनों ने शव को लेकर पत्थलगांव अस्पताल पंहुचे जहां शव का पीएम किया गया।

शव वाहन भी नहीं मिला
फरसाबहार के डॉक्टरों के द्वारा महिला डॉक्टर के नहीं होने की बात को कहते हुए पीएम करने से इंकार कर दिए जाने के बाद भी मृतका के परिजनों को उस समय ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा जब उन्हें शव का पीएम कराने के लिए पत्थलगांव जाने के लिए शव वाहन तक नसीब नहीं हो पाया। बताया जाता है कि फरसाबहार अस्पताल में शव वाहन की व्यवस्था नहीं होने के कारण परिजनों को शव ले जाने के लिए निजी वाहन की व्यवस्था करनी पड़ी।

पीएचसी प्रभारी को नोटिस
"इस मामले में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है। प्रभारी का जवाब आने के बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।''
-डॉ.पी सुथार, सीएमएचओ, जशपुर



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34IFKeP

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages