�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Wednesday, October 7, 2020

कांग्रेस सरकार किसान हितैषी तो सत्र बुला कानून रद्द करे

कृषि कानून रद्द करवाने के लिए रेल ट्रैक पर हफ्तेभर से बैठे किसानों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। किसानों ने रेल ट्रैक के साथ रिलायंस पेट्रोल पंपों और टोल प्लाजा पर भी धरना लगाकर मोर्चा खोला है। इस दौरान रेल ट्रैक पर बैठे किसानों ने कहा कि अंग्रेजों को पंजाब के शेर भगत सिंह ने सबक सिखाया था।

केंद्र सरकार को भी पंजाब के शेर ही सबक सिखाकर दम लेंगे। वहीं, मजदूर नेता कमलजीत खन्ना ने कांग्रेस सरकार को आड़े हाथ लेकर कहा कि यदि कांग्रेस सरकार किसान हितैषी है तो फिर विधानसभा सत्र बुला कानून बनाए कि बाहरी लोग सूबे में जमीन-घर न खरीद सके, इतना ही नहीं जमीनें बाहरी लोगों ने खरीद रखी है।

उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस सरकार है। वह इस सत्र बुलाकर कानून रद्द करे। वहीं, इस दौरान किसान नेता हरदीप सिंह गालिब, महिंदर सिंह, इंदरजीत सिंह ने कहा कि मोदी को लगता था कि दो-चार दिन किसान हल्ला करेंगे और थक-हारकर बैठ जाएंगे, लेकिन मोदी भूल गए पंजाबी न तो हारते है, न ही थकते हैं।

उन्होंने कहा कि जैसे दूध उबलता है, वैसे ही तेज धूप में पंजाबी का गुस्सा धीरे-धीरे उबाल मारता है। उन्होंने कहा कि जब तक बिल रद्द नहीं होते, पंजाबी चुप नहीं करेंगे। जिस दिन दिल्ली आ गए, उस दिन पंजाबियों का कब्जा दिल्ली पर होगा। इस मौके पर जगदीप सिंह, बलवीर सिंह, हरजंग सिंह, मनजीत सिंह, बलदेव सिंह, शरणजीत सिंह, कुलदीप सिंह, सुखप्रीत सिंह मौजूद रहे।

पुरानी मंडीकरण व्यवस्था जारी रखें: झोरड़ा
कामगार किसान यूनियन ने रायकोट-मुल्लांपुर रोड पर नूरपुरा रिलायंस पंप सामने 7वें दिन भी धरना जारी रखा। साथ ही अलग-अलग गांवों में केंद्र सरकार खिलाफ रोष मार्च निकाला गया। इस मौके पर यूनियन के जिला प्रधान तरलोचन सिंह झोरड़ा, जिला सचिव साधु सिंह अच्चरवाल, यूथ विंग नेता मनोहर सिंह झोरड़ा और कुलजीत सिंह लाडी ने कहा कि केंद्र के नए कानून किसान विरोधी हैं।

इसलिए पुरानी मंडीकरण व्यवस्था को जारी रखा जाए, गेहूं-धान के अलावा दूसरे फसलों की सरकारी खरीद की गारंटी हो, निजीकरण की बजाय सरकारी संस्थाओं को मजबूत किया जाए, बिजली संशोधन एक्ट-2020 रद्द कर पंजाब की किसानी को बचाया जाए।

इस मौके पर मोटरसाइकिल मार्च गांव वर्मी लटा, टूसा, हलवारा, नूरपुरा से होता हुआ दाना मंडी रायकोट में पहुंचा, जहां किसानों-मजदूरों को केंद्र की किसान विरोधी नीति के बारे में जानकारी दी गई। इस मौके पर जगरूप सिंह, गुरचरन सिंह बाबेका, मजदूर नेता सुखदेव सिंह माणुके, चरनजीत सिंह, गुरिंदर सिंह, अमरीक सिंह सहौली, हरदेव सिंह, सुखविंदर सिंह फेरूरायी, जगजीत सिंह फेरूरायी, कबड्डी खिलाड़ी काला सिंह झोरड़े, हरविंदर सिंह सीवाे, गुरचरन सिंह, दर्शन सिंह, बलजीत सिंह, राम सिंह, भिंदर सिंह, बारा सिंह रसूलपुर मौजूद रहे।

किसानों से दिल्ली चलने का किया आह्वान
प्रदेश कामगार किसान यूनियन पंजाब ने कृषि कानून रद्द कराने के लिए दिल्ली की ओर चलो मुहिम के प्रति किसानों को जागरूक करने के लिए रायकोट ब्लॉक समिति की मीटिंग कृपाल सिंह चक्क भाईका की अगुवाई में हुई। इस दौरान जत्थेबंदी के सीनियर नेता हरनेक सिंह अच्चरवाल ने बताया कि गांवों तक किसानों को इस मुहिम से जोड़ने के लिए ब्लॉक रायकोट के गावों में किसान की मीटिंग करने का फैसला लिया गया।

इसके लिए अलग-अलग किसान नेताओं की ड्यूटी लगाई गई। इस मौके पर सरपरस्त हरदेव सिंह, अमरजीत सिंह, नंबरदार नरिंदर सिंह, बहादुर सिंह, रूप सिंह, गुरमेल सिंह, जसवीर सिंह, बलौर सिंह, हरभजन सिंह, हरबंस सिंह, जनरैल सिंह, बलदेव सिंह, नंबरदार गुरचरन सिंह, बूटा सिंह, गुरचरन सिंह मौजूद रहे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
If Congress government is farmer friendly, call the session and cancel the law


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3iFInlt

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages