�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Wednesday, October 28, 2020

दुकानों पर छापेमारी-चालान शुरू, महंगी सब्जियां बेचने वालाें पर अब कड़ी सख्ती

आमताैर पर जिला में सब्जियाें के दाम डीसी तय करते हैं। इसमें उपायुक्त हाेलसेल पर खरीद से 5 से 10 फीसदी तक सब्जियाें के दाम तय करते हैं। सब्जी विक्रेता उससे ज्यादा लाभ नहीं ले सकते। मगर अब अधिकांश सब्जी विक्रेता उपायुक्त के आदेशाें के दरकिनार करते हुए मनमर्जी के रेट पर सब्जियां बेचते हैं।

शिमला शहर में ज्यादात्तर उपनगराें के सब्जी विक्रेता अपनी मर्जी से 20 से 30 फीसदी तक लाभ रखकर सब्जियां बेचते हैं। मगर अब इन्हीं पर शिकंजा कसने के लिए उपायुक्त शिमला ने अादेश जारी कर दिए हैं। बुधवार से प्रशासन ने मनमाने दामाें पर प्याज और अन्य सब्जियां बेचने वालाें के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

इसी के तहत पहले दिन शिमला शहर की सब्जी मंडी, चक्कर और विकासनगर में खाद्य निरीक्षक ने छापेमारी की। इस दाैरान सब्जी मंडी में कई सब्जी विक्रेता महंगे दामाें पर प्याज और अन्य सब्जियां बेचते पाए गए। इसमें विकासनगर में तीन सब्जी विक्रेताओं के ओवर चार्जिंग पर चालान किए गए।

इसमें वह तय दामाें से अधिक वसूली कर रहे थे। इसी तरह कई सब्जी विक्रताओं काे पहले दिन हिदायत देकर भी छाेड़ा गया। उन्हाेंने कई सब्जी विक्रेताओं काे डीसी के आदेशाें की अवहेलना करने पर फटकार भी लगाई। सब्जी विक्रेताओं काे बकायदा रेट लिस्ट लगाने के लिए भी कहा गया।

शिमला समेत ऊपरी शिमला में एक साथ शुरू हुई कार्रवाई

प्याज पर रहेगी खास नजरः

प्याज के दाम एक बार फिर से लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बीते सप्ताह जहां प्याज 50 रुपए प्रति किलाे तक था, वहीं इस सप्ताह इसके दाम 70 से 80 रुपए प्रति किलाे हाे गए हैं। ऐसे में प्याज की स्टाेरेज काे लेकर भी सरकार ने एक दिन पहले ही तय सीमा कर दी है।

हाेलसेलर 25 टन, जबकि रिटेलर 2 टन से ज्यादा प्याज का स्टाॅक नहीं रख सकते है। लिहाजा विभाग अब इस पर भी कड़ी नजर रखेगा कि काेई प्याज की स्टाेरेज ताे नहीं कर रहा है। वहीं प्याज के दाम पर भी प्रशासन कड़ी नजर रखेगा ताकि मुनाफाखाेर मनमानी ना कर सके।

कई जगह किए निरीक्षण:

खाद्य आपूर्ति विभाग की कई टीमें जगह-जगह निरीक्षण कर रही हैं। इसी के तहत जहां शिमला शहर की सब्जी मंडी, चक्कर, विकासनगर में करीब एक दर्जन दुकानाें पर निरीक्षण किया गया। वहीं जिला के राेहड़ू में पांच और चिड़गांव में सात दुकानाें का निरीक्षण किया गया।

इस दाैरान पाया गया कि अधिकांश दुकानाें में रेट लिस्टें गायब थी। जिसके लिए अधिकारियाें ने पहले दिन सब्जी विक्रेताओं काे हिदायत देकर छाेड़ा। उन्हाेंने उपायुक्त द्वारा तय दामाें पर सब्जियां बेचने के लिए भी कहा।

इस तरह हाे रही जांच पड़ताल

सुबह साढ़े सात बजे चेक हाे रहे खरीद के रेटः

खाद्य आपूर्ति विभाग के कर्मचारी निरीक्षण के लिए सुबह साढ़े सात बजे के बाद सब्जी मंडी शिमला में पहुंच जाते हैं। यहां पर हाेलसेल के रेट चेक किए जाते हैं, ताकि हाेलसेल की दराें में काेई गड़बड़ी ना हाे सके। यहीं से फिर प्रशासन रेट लिस्ट तय करता है कि काैन सी सब्जी किस रेट पर आई है और किस रेट तक बेच सकेंगे।

दिन से शाम तक सब्जियां बेचने पर चेकः

उसके बाद दिन से लेकर देरशाम तक उपनगराें में सब्जियाें के निरीक्षण किए जा रहे हैं। इसमें ओवर चार्जिंग वालाें पर शिकंजा कसा जा रहा है ताकि काेई भी सब्जी विक्रेता तय मुनाफे से अधिक दामाें पर सब्जियां ना बेच सके। आगामी कई दिनाें तक विभाग का अब यही रुटीन रहेगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Raid on shops - Challan started, those who sell expensive vegetables are now strictly strict


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3kE3LJE
via IFTTT

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages