�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Wednesday, November 18, 2020

निर्यातकों को अब तक ‌~2500 करोड़ का घाटा, भाड़ा बढ़ने से इनपुट कॉस्ट भी 25% बढ़ी, 13 हजार से अधिक कंटेनरों में माल अटका

(वैवस्वत वेंकट)
दो महीने से रेल सुविधाओं के बाधित होने से पंजाब की इंडस्ट्री की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। इंडस्ट्री के 13 हजार से अधिक कंटेनर अलग-अलग जगहों पर अटके हैं। इनमें से 10 हजार आयात किये गए माल के हैं। 6000 में स्क्रैप है जो लोहा उत्पाद में इस्तेमाल होता है। वहीं, नई कनसाइनमेन्ट रोड ट्रांसपोर्ट के जरिए हरियाणा, दिल्ली से ट्रेन पर मुंबई भेजना है या सीधे मुंबई भेजना है तो कंटेनर भी नहीं मिल रहे। अगर कंटेनर मिल पा रहे हैं तो ट्रेलर नहीं मिल रहे। कंटेनरों का भाड़ा भी 80 से 90 प्रतिशत तक बढ़ गया है। इनपुट कॉस्ट 25 प्रतिशत तक बढ़ गई है। सीधा प्रभाव पंजाब से होने वाले निर्यात पर पड़ रहा है। निर्यातकों को करीब 2500 करोड़ का नुकसान हो चुका है। अक्टूबर-2019 में 11700 कंटेनर निर्यात हुए थे, इस साल 700 कंटेनर ही जा पाए हैं।

होजरी इंडस्ट्री को 500 करोड़ और ऑटो व ट्रैक्टर इंडस्ट्री को 700 करोड़ से अधिक का हो चुका है नुकसान

प्रति कंटेनर 1 लाख तक खर्च बढ़ गया
एक्सपोर्टरों को जितना भी नुकसान कहें कम है। अब प्रति कंटेनर 50,000 से लेकर 1 लाख तक अधिक खर्चना पड़ रहा है। पंजाब की बात करें तो 2500 करोड़ से अधिक का नुकसान एक्सपोर्टर्स का हो चुका है।
एससी रल्हन, पूर्व प्रधान, एफआईईओ

केवल 40% तक ही उत्पादन हो पा रहा
स्क्रैप के कंटेनर फंसने से कच्चे माल की किल्लत है। जो कुल्फी 32 हजार रुपए टन मिलता था वो अब साढ़े 37 हजार रुपए में मिलता है। 40 प्रतिशत ही उत्पादन चल रहा है। ऑर्डर भी कम हैं क्योंकि माल फंसा पड़ा है।
-केके गर्ग, प्रधान, इंडक्शन फर्नेस एसो. ऑफ नार्थ इंडिया

मुंबई से लाने पड़ रहे हैं खाली कंटेनर
रॉ मटेरियल की कमी हो रही है दाम भी बढ़ गए हैं। एक्सपोर्टर कंटेनर्स मुंबई भेज रहे हैं तो इनपुट कॉस्ट बढ़ा रहा है। खाली कंटेनर भी मुंबई से लाने पड़ रहे हैं। हाई एन्ड साइकिल कॉम्पोनेंट्स और बहुत सा कच्चा माल आयात करना पड़ता है लेकिन आयात और निर्यात दोनों ही महंगे हो गए हैं।
-ओमकार सिंह पाहवा, चेयरमैन एवन साइकिल

ऑर्डर कैंसिल होने के डर से एयर कार्गो से भेजना पड़ रहा सामान
एक्सपोर्ट ऑर्डर में देरी और ऑर्डर कैंसिल होने के डर से एयर कार्गो से सामान भेजना पड़ रहा है। 700 करोड़ से अधिक का नुकसान ऑटो और ट्रैक्टर इंडस्ट्री को हो चुका है।
-उपकार सिंह अहूजा , प्रधान चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल अंडरटेकिंग्ज

नुकसान व्यापारियों और रेलवे सभी का हो रहा है...

अभी ट्रेन चलाने के कोई आदेश नहीं है। जैसे ही आदेश आएंगे ट्रेन चलाई जाएंगी। ट्रेन न चलने से यात्रियों, व्यापारियों व रेल सब का नुकसान हो रहा है।
-राजेश अग्रवाल, डीआरएम



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Losses to exporters till now amount to ‌ ~ 2500 crores, input cost also increased by 25% due to increase in freight, goods stuck in more than 13 thousand containers


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3lJ9MVP

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages