�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, November 1, 2020

शहर की तर्ज पर ठेलकाबोड़ में भी घर-घर पहुंच कचरा संग्रहण करेंगी सफाई मित्र

शहर की तर्ज पर ग्राम पंचायत ठेलकाबोड़ में भी घर घर जाकर कचरा संग्रहण कार्य शुरू होगा। गांव की स्वसहायता समूह से जुड़ी महिलाएं इसमें सफाई मित्र के रूप में अपनी सेवाएं देंगी तथा घर घर पहुंच गीला तथा सूखा कचरा अलग अलग जमा एकत्रित करेंगी। कचरा से जैविक खाद्य तैयार की जाएगी जिसे बेचने से महिला समूह को आमदनी भी होगी। समूह से जुड़ी महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। कचरा संग्रहण केंद्र बनकर तैयार हो चुका है तथा शीघ्र ही घरों में पहुंच कचरा संग्रहण कार्य शुरू किया जाएगा।
ठेल्काबोड़ा शहर से जुड़ा हुआ है लेकिन नगर पालिका क्षेत्र में नहीं आने के कारण पालिका यहां अपनी सेवाएं नहीं दे पाती है। यही कारण है की यहां कचरा संग्रहण कार्य भी नहीं होता। इसके चलते यहां रहने वाले खुले में कचरा फेंकते हैं जिससे क्षेत्र में गंदगी का आलम बना रहता है। इसी समस्या को देखते ग्राम पंचायत ने यहां शहर की तर्ज पर घर घर जाकर कचरा संग्रहण कार्य करने का निर्णय लिया है ताकी ठेल्काबोड़ा को गंदगी से मुक्ति मिल पाए। गांव की एकता महिला स्वहायता समूह को इस कार्य का जिम्मा दिया गया है। समूह से 20 महिलाएं जुड़ी हैं जो सफाई मित्र के रूप में अपनी सेवाएं देंगी।
समूह की महिलाओं को इस कार्य के लिए जिला पंचायत के माध्यम से प्रशिक्षण दिया जा चुका है। कचरा संग्रहण करने तीन ट्रायसिकल्स भी पहुंच चुकी है। यही नहीं ठेल्काबोड़ में 7.67 लाख की लागत से कचरा संग्रहण केंद्र भी बनकर तैयार हो चुका है। समूह की महिलाओं के लिए यूनिफार्म तथा दस्ताने आदि भी पहुंच चुके हैं।

सीईओ ने बढ़ाया सफाई मित्रों का उत्साह
समूह की महिलाओं को स्वच्छ भारत मिशन के ग्रामीण जिला समन्वयक बालमुंकुद देवांगन, नूतन जैन ने प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण में स्वयं जिला पंचायत सीईओ डा संजय कन्नौजे ने पहुंच समूह की महिलाओं का उत्साह वर्धन किया। सरपंच नंदलाल कुंजाम ने कहा गांव को स्वच्छ बनाने पहल शुरू की गई है इसमें पुरे गांव का सहयोग अपेक्षित है।

कचरा संग्रहण करने घरों से लिया जाएगा सामान्य शुल्क
समूह से जुड़ी महिलाएं रोजाना घरों तक पहुंच कचरा एकत्रित करेंगी। इसके बाद सूखे गीले कचरे को अलग कर जैविक खाद्य तैयार करेंगी। जैविक खाद्य बेचने से आमदनी तो होगी ही प्रत्येक घर से कचरा संग्रहण के एवज में सामान्य मासिक शुल्क भी लिया जाएगा। शुल्क निर्धारण करने विचार विमर्श चल रहा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
On the lines of the city, cleaning friends will also collect garbage from house to house in Thelkabod


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3oIVM0t

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages