�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, November 23, 2020

आंगनबाड़ी भवन अधूरा, पूर्व सरपंच-सचिव ने निकाल ली राशि, काम बंद

ग्राम पंचायत श्रीपुर के बारकोट पटेलपारा में आंगनबाड़ी भवन तीन सालों से अधूरा पड़ा हुआ है। भवन के लिए स्वीकृत राशि पूर्व सरपंच- सचिव द्वारा आहरण किया गया, लेकिन भवन पूर्ण नहीं कराया गया। इसके चलते अब भवन खंडहर में तब्दील हो रही है।
कोयलीबेड़ा जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत श्रीपुर के आश्रित गांव बारकोट पटेल पारा के आंगनबाड़ी भवन पूर्ण होने से पहले ही खंडर में तब्दील हो रहा है। राशि आहरित किए जाने के बाद भी इसे अब तक पूर्ण नहीं कराया गया है। आंगनबाड़ी भवन बाउंड्रीवाल के साथ निर्माण करना था, लेकिन अब तक सिर्फ चौखट स्तर तक ही बन पाया है।
भवन नहीं होने के चलते आंगनबाड़ी अब भी छोटे से झोपड़ी में संचालित हो रही है। भवन निर्माण के लिए 2017 में 6 लाख 54 हजार स्वीकृति हुई थी। इसका निर्माण एजेंसी ग्राम पंचायत को बनाया गया। पंचायत के पूर्व सरपंच रीना उसेंडी व पूर्व सचिव अनुतोष मंडल ने इंजीनियर से सांठगांठ कर काम पूरा किए बिना ही 6 लाख 37 हजार की राशि निकाली भी ली। अब केवल 17 हजार रुपए ही बची हुई है। राशि निकालने के बाद काम बंद कर दिया गया, जो अब तक शुरू नहीं हो पाया है।
ग्रामीणों ने इसकी जानकारी ली तो पंचायत द्वारा अप्रैल माह में पूरा करने की जिम्मेदारी ली थी, लेकिन अब तक भवन का काम शुरू नहीं हो पाया है।
पूर्व सरपंच व सचिव ने निकाली राशि : ग्राम पंचायत श्रीपुर के वर्तमान सचिव श्रवण कुमार नेताम ने कहा गनबाड़ी भवन की राशि पूर्व सरपंच और सचिव द्वारा निकाली गई है। इसके चलते भवन अधूरा है। अब मात्र 17 हजार ही बाकी है।
जो दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी : कोयलीबेड़ा जनपद सीईओ आशीष डे ने कहा मामले की जांच की जाएगी। जांच के बाद भी जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बिना निर्माण कैसे हुआ आहरण, उठने लगे सवाल
ग्रामीणों ने कहा बिना काम हुए व मूल्यांकन के ही भवन निर्माण की पूरी राशि आहरण कैसी की गई, इसकी जांच होनी चाहिए। इंजीनियर के मूल्यांकन करने के बाद पूरी राशि दी जाती है, लेकिन भवन के पूर्ण होने के पहले ही इंजीनियर द्वारा राशि निकालने की सहमति कैसे दी यह भी सोचनीय है। ग्रामीण शत्रुघ्न आचला, रामलाल ने जिम्मेदार अधिकारियों से जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करते हुए, जल्द निर्माण पूर्ण करने कहा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2J6sMPY

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages