�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, November 30, 2020

क्राइम रोकने प्रदेश में लागू होगा जिले का आइडिया

साइबर क्राइम रोकने बालोद के गुंडरदेही टीआई के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। यह आइडिया अब प्रदेश के सभी जिले में लागू होगा। इसके तहत जागरूकता अभियान चलेगा। साइबर लीड अधिकारी के रूप में नियुक्त होकर टीआई व एसआई प्रत्येक माह में 2 कॉलेज व 3 स्कूल में पहुंचकर छात्रों को जागरूक करेंगे। इसकी तैयारी जिले में शुरू कर दी गई है। वर्तमान में स्कूल, कॉलेज में स्टूडेंट्स नहीं पहुंच रहे हैं, इसलिए सोशल मीडिया के माध्यम से जागरूक करने निर्देश दिए हैं। इस संबंध में रायपुर पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) आरके विज ने बालोद एसपी जितेंद्र सिंह मीणा सहित प्रदेशभर के सभी जिला एसपी को पत्र भेजा है। जिसमें उल्लेख किया गया है कि प्रदेश में बढ़ते साइबर अपराध की रोकथाम के लिए स्कूल, कॉलेज के छात्र महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। इसलिए साइबर अपराधों के प्रति समाज में व्यापक सजगता लाने के लिए छात्रों को इस विषय में जागरूक करना होगा। डीजीपी की ओर से प्रदेश के सभी एसपी को जारी पत्र में गुंडरदेही टीआई रोहित मालेकर का उल्लेख किया गया है। जो रोजाना लोगों को संदेश भेजकर साइबर सहित अन्य क्राइम को नियंत्रित करने जागरूक कर रहे हैं।

साइबर क्राइम को रोकने सभी जिलों में यह होगा
प्रदेश के हर जिले में ऐसे टीआई, एसआई जो साइबर के क्षेत्र में कार्यरत रहे हों और साइबर अपराध की रोकथाम के लिए इच्छुक हों। ऐसे पुलिसकर्मियों का चयन कर साइबर लीड अधिकारी के रूप में नियुक्त किया जाए। जिसके बाद पुलिस हेड कार्यालय को सूचित करें। हर अनुभाग में पदस्थ एसडीओपी, सीएसपी को निर्देश दे कि साइबर लीड अधिकारी के नेतृत्व में प्रत्येक माह कम से कम 2 कॉलेज एवं 5 स्कूल में साइबर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जाए।

क्राइम से बचने के लिए आपको यह जानना जरूरी

  • किसी भी अनजान फोन कॉल आने पर उसे क्रेडिट या डेबिट कार्ड की जानकारी न दें।
  • बैंकिंग खाते को हमेशा मोबाइल नंबर के साथ अपडेट करें। जिसमे अलर्ट मैसेज आपको आते रहे, ताकि आप तत्काल रिपार्ट कर सके।
  • बैंकिंग डिटेल्स जैसे डेबिट कार्ड की सीवीवी, नंबर या पिन मोबाइल में न रखें।
  • अगर आप इलेक्ट्रॉनिक वालेट चलाते हैं तो सुरक्षित उपयोग करें।
  • किसी अनजान व्यक्ति के कहने पर कोई भी एप्लीकेशन डाउनलोड न करें।
  • किसी भी अनजान लिंक को क्लिक न करें।
  • गूगल पर कस्टमर केयर का नंबर सर्च न करें।

अभी सोशल मीडिया के जरिए किया जा रहा अलर्ट
टीआई रोहित मालेकर ने बताया कि स्कूल, कॉलेज, ग्राम पंचायत में पहुंचकर लोगों को जागरूक किया जाएगा। सोशल मीडिया में भी प्रचार किया जाएगा, ताकि स्टूडेंट्स के माध्यम से परिवार के सदस्यों तक जागरूकता संदेश पहुंच सके और कोई भी ठगी का शिकार न हो।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37kjnwo

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages