�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, November 30, 2020

फाजिल्का में टुबड़ी व्रत रख सुहागिनों ने की सुहाग की लंबी उम्र की कामना

फाजिल्का करवाचौथ की तर्ज पर पति की लंबी आयु के लिए रखा जाने वाला टुबड़ी का व्रत महिलाओं ने सोमवार को श्रद्धा और उत्साह के साथ रखा। इसके बाद देर सायं गोशाला में स्थित रजबाहे में जाकर पूजा-अर्चना कर पति और बेटों की लंबी आयु की कामना की। उल्लेखनीय है कि करवाचौथ के कुछ दिन बाद आने वाला सुहागिनों के लिए खासा महत्व रखता है।

आटे से बने दीपों को गोबर की पाथियों पर जलाकर उन्हें जल में प्रवाहित किया गया। सुहागिनों द्वारा बहते जल के किनारे पाथियों से कोठी बनाई और उसमें दीया जलाकर अपने पति की लंबी उम्र की दुआ मांगी, लेकिन उनका तप यहीं समाप्त नहीं हुआ बल्कि करवाचौथ की तरह सुहागिनों ने चांद निकलने पर पाथी और बाजरे की रोटी में किए छेद में से चांद और अपने पति का मुखड़ा देखकर चांद को अर्घ्य दिया। तब जाकर उन्होंने पति के साथ बाजरे की रोटी-सरसों के साग का निवाला लेकर अपना व्रत समाप्त किया। इस व्रत में भी सुहागिनें ने सारा दिन अन्न और जल का त्याग करती हैं। शाम ढलते ही दुल्हन की तरह सजी सुहागिनें टोली बनाकर स्थानी गोशाला में बहते पानी के किनारे एकत्रित हुईं। शहर की महिला रीतू रानी व सीमा रानी ने बताया कि यह व्रत पति-बेटों की लंबी आयु को लेकर रखा जाता है। शाम को पूजा-अर्चना के बाद रात को चंद्रमा के दर्शन कर व्रत खोला जाता है।

गोबर की पाथियों की जगह लोगों ने किया थरमोकोल का प्रयोग
गोशाला में अपनी पत्नी संग पहुंचे राजीव कुमार ने बताया कि महिलाओं द्वारा पूजन करने के लिए जल प्रवाह करने के लिए अधिकतर थरमोकोल से बनी कटोरियों का इस्तेमाल किया गया है जिससे प्रदूषण फैलता है। इसको इस्तेमाल न करते हुए गोबर की पाथियों का इस्तेमाल करना चाहिए।

जलालाबाद में भी महिलाओं ने रखा व्रत
श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर सुहागिनों द्वारा टुबड़ी का व्रत रखा और हजारों सुहागिनों ने पतियों की लंबी उम्र की कामना की। रात को चांद देखकर व्रत तोड़ने से पहले सुहागिनों ने करवाचौथ की कथा की तर्ज पर बहते पानी में खेती पूजन श्रद्धापूर्वक किया। शहर के शहीद ऊधम सिंह पार्क और टीवाना रोड पर ओम आश्रम में कृषि पूजन के लिए आई सुहागिनों ने बताया कि सुबह सूर्योदय से पहले सरघी के साथ शुरू हुआ उनका व्रत रात को चांद देखने के बाद ही पूरा होगा। इस व्रत में कुछ खाना तो दूर की बात पानी की एक बूंद भी नहीं पी जाती। हर साल की तरह इस साल उन्होंने व्रत के दौरान सायंकाल को होने वाले खेती पूजन में गन्ने, गेहूं आदि से खेती पूजन किया है। इस पूजन का उद्देश्य पति की लंबी उम्र की कामना है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Suhagins wish for a long life for Suhag by keeping a fast on Fubilka


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Jqs7c6

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages