�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, December 18, 2020

विभाग को गुमराह करने के आरोप में डिपो होल्डर संदीप चलाना का राशन डिपो लाइसेंस किया रद्द

राजीनीतिक रंजिश के चलते नगर परिषद चुनाव समीप आते देखकर भाजपा के पूर्व पार्षद व राधा-स्वामी कॉलोनी के डिपो होल्डर संदीप चलाना का राशन डिपो लाइसेंस खाद्य आपूर्ति विभाग ने रद कर दिया है। इससे पहले चलाना को जान-बूझकर अपने वार्ड की किसी महिला की राशन सप्लाई में अपने रिश्तेदारों के नाम जोड़कर अवैध रूप से राशन बांटने के आरोप में सप्लाई मुअत्तल की गई थी।

वहीं अब जांच के बाद संदीप कुमार द्वारा बताए गए कारणों को संतुष्टिजनक न पाते हुए उसका राशन डिपो लाइसेंस ही रद कर दिया है। खुराक सप्लाई अधिकारी फाजिल्का की तरफ से अपनी रिपोर्ट में लिखा गया कि डिपो होल्डर संदीप कुमार राधा-स्वामी कॉलोनी फाजिल्का का यह कहना कि आशा रानी के राशन कार्ड में अपने रिश्तेदारों के नाम दर्ज किए गए हैं जिनके नाम पर राशन लेकर आशा रानी व उसके पारिवारिक सदस्यों को राशन नहीं दिया जा रहा। जांच में मामला सामने आया है।

इसलिए विभाग द्वारा की गई जांच के बाद संदीप कुमार का डिपो लाइसेंस नंबर एफजेडके-आईएफएस–डी-यू-2011/05 रद्दकर दिया गया है। बता दें कि इससे पूर्व संदीप कुमार का डिपो सस्पैंड किया गया था। जिस संबंधी उक्त डिपो होल्डर द्वारा हाईकोर्ट में याचिका दायर कर स्टे प्राप्त किया था जिसके बाद संबंधित विभाग द्वारा उसकी सप्लाई शुरू कर दी गई थी किंतु विभागीय जांच के बाद उक्त डिपो होल्डर का डिपो रद्द कर दिया गया है।

आरोप : रिश्तेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए विभाग को किया गुमराह
इस बारे में सहायक खुराक एवं सप्लाई अधिकारी द्वारा जारी पत्र में की गई सिफारिश के अनुसार डिपो होल्डर संदीप कुमार को जो कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था, उसके जवाब में चलाना ने जो तर्क दिए थे, वह संतुष्टिजनक नहीं थे बल्कि उन पर लगाए गए आरोपों से साबित हुआ है कि उन्होंने अपने रिश्तेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए न केवल विभाग को गुमराह किया है बल्कि राशन कार्ड संबंधी विभागीय पोर्टल पर ऑनलाइन किए गए रिकॉर्ड में भी उन्होंने संबंधित कर्मचारियों और अधिकारियों को गुमराह किया।

इसी कारण उन पर कार्रवाई की गई है। अब संदीप कुमार ये कह रहे हैं कि उन्हें महिला के राशन कार्ड से किसी और को मिल रहे राशन की जानकारी नहीं थी, ये बात भी नहीं पचती क्योंकि राशन प्राप्त करने वाले लोग संदीप कुमार के नजदीकी रिश्तेदार हैं और उनके द्वारा राशन न लिए जाने का पता संदीप कुमार को न हो, ये संभव ही नहीं है। पूरी जांच के बाद विभाग ने उसके डिपो को लाइसेंस रद्द कर दिया है।

एक महिला के कार्ड में जबरन उसके रिश्तेदारों के नाम डालकर बदनाम किया जा रहा : संदीप
उक्त मामले संबंधी भाजपा के पूर्व पार्षद व डिपो संचालक संदीप चलाना से बात की गई तो उनका कहना है कि उक्त वार्ड के कुछ विरोधी सत्ताधारी उसे चुनाव न लड़ने संबंधी दबाव बनाना चाहते हैं तथा साजिश के तहत वार्ड की एक महिला के कार्ड में जबरन उसके रिश्तेदारों के नाम डालकर उन्हें बदनाम करने हेतु एसी साजिशें की जा रही हैं किंतु वह अब उनकी किसी भी साजिश को कामयाब नहीं होने देंगे क्योंकि जिस महिला को ढाल बनाकर उनका डिपो रद्द किया गया है, उस महिला व उसके पारिवारिक सदस्यों द्वारा एक ही दिन में दो बार राशन लेने के बायोमैट्रिक्स प्रूफ उनके पास हैं। जिसे वह कोर्ट में पेश करेंगे। संदीप चलाना का यह भी कहना है कि उक्त महिला उसे फोन पर प्लाट दिलाने का दबाव बनाकर ब्लैकमेल कर रही है।

संदीप कुमार पर लगे आरोप सही : अधिकारी
इस बारे में अतिरिक्त खाद्य आपूर्ति अधिकारी गुरिंदर सिंह से बात की गई तो उन्होंने संदीप कुमार का डिपो रद्द किए जाने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि उक्त मामले की जांच पूरी बारीकी से किए जाने पर संदीप कुमार पर लगे विभाग को गुमराह करने के आरोप सही पाए गए हैं, इसीलिए विभाग ने उसका राशन डिपो का लाइसेंस रद्द किया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Sandeep driving ration depot license canceled for misleading department


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/38hglcS

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages