�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Tuesday, December 22, 2020

भाजपाई बोले- जिपं अध्यक्ष को कार्रवाई का कोई अधिकार नहीं

ग्रामीणों के पलायन मामले में जिला पंचायत अध्यक्ष तूलिका कर्मा की सरपंचों पर भी सख्ती के बाद अब दंतेवाड़ा में इन दिनों राजनीति गरमाई हुई है। सरपंच संघ के जिलाध्यक्ष कोपा कुंजाम के बयान के बाद अब भाजपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य भी अध्यक्ष तूलिका पर नाराज हैं। मंगलवार को भाजपा समर्थित सभी जिला पंचायत सदस्यों ने प्रेसवार्ता रखी। जिसमें जिला पंचायत सदस्य रामूराम नेताम ने कहा कि बस्तर में पेसा एक्ट 5वीं अनुसूची लागू होने व पंचायती राज अधिनियम के अनुसार पंचायतों में सरपंच व ग्राम सभा की अनुमति के बगैर एक ईंट भी नहीं रखी जा सकती। ऐसे में जनता द्वारा चुने गए सरपंचों पर कार्रवाई का अधिकार नहीं है।जिला पंचायत अध्यक्ष खुद एक जनता द्वारा चुनी हुई जनप्रतिनिधि है। ऐसे में वे किस नियम के तहत सरपंच पर कार्रवाई की बात कह रही हैं।
भाजपाई जिला पंचायत सदस्यों ने कहा कि उनके द्वारा भाजपा समर्थित सरपंचों व पंचायतों से सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। इन पंचायतों में विकास कार्यों को लगभग बंद कर दिया गया है। आज गांवों में पूर्व के कामों का भुगतान नहीं होने से ग्रामीण परेशान हैं।
भाजपा शासनकाल में जितने भी रोजगार मूलक काम शुरू हुए, सब बंद कर दिए गए हैं। धान खरीदी में लगातार गड़बड़ियां उजागर हो रही हैं। इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य मालती नंदलाल मुडामी, पायके मरकाम, संगीता नेताम, बैसू मंडावी, रामू नेताम, श्रवण कडती मौजूद थे।

गीदम ब्लॉक अध्यक्ष बोले- सरपंचों को जानकारी नहीं
सरपंच संघ के गीदम ब्लॉक अध्यक्ष अनिल कर्मा ने अब कहा कि जिलाध्यक्ष कोपा कुंजाम ने चारों ब्लॉक के सरपंच संघ से कोई बैठक नहीं की और न ही किसी की राय जानने की कोशिश की। गीदम ब्लॉक मुख्यालय के सरपंच संघ को इस बात की कोई जानकारी नहीं है। यह शायद उनका व्यक्तिगत निर्णय हो सकता है मगर हमारे गीदम संघ द्वारा कोपा कुंजाम के इस माफी मांगने पर कोई सहमति नहीं जताई है। गीदम सरपंच संघ के ब्लॉक अध्यक्ष अनिल कर्मा ने कहा है कि संघ द्वारा इस विषय पर अभी कोई बैठक नहीं की गई है।

एजेंसी इसलिए बदली क्योंकि सरपंच भाजपा समर्थित
जिला पंचायत सदस्यों ने यह भी कहा कि कारली-1 गांव में सीसी सड़क निर्माण काम हो रहा है। जिसे एक कांग्रेसी कार्यकर्ता ही कर रहे हैं। इस गांव के सरपंच भाजपा समर्थित हैं। ऐसे में कारली-1 की बजाए कारली-2 ग्राम पंचायत को एजेंसी बना दिया गया। क्योंकि इस गांव के सरपंच कांग्रेसी हैं। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि भाजपा समर्थित सरपंचों, जनप्रतिनिधियों वाले इलाके में द्वेष भावना के साथ काम हो रहा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
The BJP president said - the chairman of the JP has no right to act


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34FxHzc

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages