�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, December 21, 2020

ओवरटेक करते ट्राले ने बाइक को मारी साइड, पत्थर पर गिरे दोनों दोस्तों की मौत

ढंडारी खुर्द स्थित गणपति चौक में रविवार रात ओवरटेक के चक्कर में एक ट्राला चालक ने बाइक पर जा रहे दो दोस्तों को साइड मारकर गिरा दिया, जोकि जमीन पर पड़े पत्थर से टकराकर गंभीर रूप से जख्मी हो गए। लोगों ने नवजोत(19) और अंकुश भारती(27) को निजी अस्पताल में पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। थाना फाेकल पाॅइंट पुलिस को दिए बयानों में अंकुश के भाई अंकित उर्फ मिंटू ने बताया

कि वो मूलरूप से कांगड़ा के रहने वाले हैं। उसका भाई कुमार एक्सपोर्ट में मशीन ऑपरेटर का काम करता था। शनिवार को उनकी नाइट ड्यूटी थी। अंकुश अपने दोस्त न्यू सुंदर नगर निवासी नवजोत सिंह के साथ अपने बाइक पर रात 8 बजे फैक्टरी गए थे। जहां पहुंचने पर उन्हें फैक्टरी के किसी काम पर भेज दिया। इस दौरान वो भी गणपति चौक के नजदीक जा रहा था। करीब सवा 9 बजे अंकुश और नवजोत बाइक पर चौक में जा रहे थे। तभी एकदम से पीछे से ओवरस्पीड ट्राला आया, जिसने उन्हें टक्कर मार दी। लोगों ने पुलिस को ट्राला का नंबर नोट कर बताया, जिसके बाद एफआईआर रजिस्टर की गई।

मां बोली : मैं केहंदी सी अज्ज न जा

नवजोत के परिवार में उसके माता-पिता और दो बहनें है, जोकि स्कूल में पढ़ रहीं है। परिवार का जिम्मा पिता जगतार सिंह और नवजोत दोनों पर था। कम उम्र में ही वो अपने परिवार का सहारा बन गया था। दिन रात मेहनत के बाद उन्होंने काफी मुश्किल से घर बनाया था। जिसकी शुद्धि के लिए उन्होंने नए साल पर सुखमणि साहिब का पाठ करवाना था। क्योंकि नवजोत काफी धार्मिक प्रवृति का था। लेकिन क्या पता था कि वो दिन देख नहीं पाएगा। उसकी मां कभी रो पड़ती तो कभी अपने बेटे को तलाशती। वो बार-बार एक ही बात बोलती जा रही थी कि अगर मैंनू पता हुंदा तां मैं कदी अपणे पुत्त नूं नी सी भेजणा।

अंकुश की शादी की थी तैयारी -अंकुश भी अपने परिवार का सहारा था। वो और उसका भाई अंकित दोनों मिलकर घर का खर्च चला रहे थे। अंकुश की सैलरी अच्छी होने लगी तो परिवार ने सोचा था कि जल्द उसकी शादी कर देंगे। जिसके लिए उन्होंने लड़की भी तलाशनी शुरू कर दी थी।

दोनों का हुआ संस्कार -नवजोत के शव को शमशानघाट में लाया गया तो वहां माहौल इतना गमगीन था कि वहां मौजूद हर शख्स की आंख में आंसू आ गया। मां अपने बेटे को पुकारती जा रही थी। अंत फटे कलेजे से पिता जगतार सिंह ने अपने बेटा का अंतिम संस्कार किया। वहीं, अंकुश के शव को पोस्टमार्टम के बाद उसे गांव हिमाचल प्रदेश में ले जाया गया, जहां उसका भी संस्कार हुआ।

गणपति चौक में रोज होते हादसे-ृलोगों ने बताया कि इस चौक में रोज एक एक्सीडेंट होता है। हालांिक इससे पहले एक्सीडेंट छोटे-मोटी चोट के ही थे। लेकिन इस हादसे ने दो जिंदगियां लील ली। लोगों ने आरोप लगाया कि वहां लाइट्स तो हैं, लेकिन उसकी विजिबिल्टी कम होती है, जिसकी वजह से अकसर रात को हादसे होते है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Trolley killed side by side while overtaking, both friends fell on the stone


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3nES5Yt

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages