�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Wednesday, December 9, 2020

थानेदार की वर्दी फाड़ी, कहा-तू कौन होता हैं रोकने वाला

जिले के थाना वैरोका क्षेत्र में रेत की अवैध माइनिंग करने से रोकने पर पुलिस पार्टी व माइनिंग स्टाफ पर तेजधार हथियारों से हमला करने व पुलिस की वर्दी फाड़ने के आरोप में थाना वैरोका में 4 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है।

जांच अधिकारी जसवंत सिंह ने बताया कि उनको गुरचरन सिंह ने बयान दर्ज करवाए थे कि वह माइनिंग स्टाफ फाजिल्का में ड्यूटी कर रहे हैं तथा उनकी टीम का काम पूरे जिले में हो रही नाजायज माइनिंग को रोकना है। प्रत्येक दिन की तरह 5 दिसंबर को वह माइनिंग इंचार्ज परमजीत सिंह, एएसआई मुख्तयार सिंह समेत सरकारी गाड़ी मेें सोना राम सहित चेकिंग के संबंध में थाना वैरोका के क्षेत्र में रवाना हुए।

उसके बाद उनकी टीम द्वारा गांव सिंघेवाला से बंदीवाला को जाने वाली रोड पर नाकाबंदी कर दी गई। इस दौरान रात करीब 11 बजे गांव सिंघेवाला की तरफ से ट्रैक्टर आता दिखाई दिया। जिसके पीछे ट्राला था और ट्रैक्टर को कुलदीप सिंह उर्फ दीपू वासी लक्खेके उताड़ उर्फ लक्खे कड़ाहिया चला रहा था जिसको वह पहले से ही जानते थे क्योंकि वह और उसका पिता कुलवंत सिंह अवैध माइनिंग करते हैं। जब उसने कुलदीप सिंह को पूछा कि वह कहां से आया है तो वह कहने लगा कि वह रेता बेचने के लिए जा रहा है वह कौन होते हैं पूछने वाले।

ट्रैक्टर चालक का पिता बोला-ट्रैक्टर क्यों रोका, चढ़ा दे इस पर बाकी मैं देख लूंगा

इस दौरान एक मोटरसाइकिल पर उसका पिता सतनाम सिंह वासी लक्खे के उताड़ व दो अज्ञात व्यक्ति आ गए। आते ही उसने अपने लड़के को कहा कि ट्रैक्टर क्यों रोका है चढ़ा दो इनके ऊपर बाकि मैं देख लूंगा। इतने में कुलदीप सिंह उर्फ दीपू ने एकदम अपने ट्रैक्टर तेज कर ले गया।

फिर इंचार्ज एएसआई परमजीत सिंह ने एएसआई मुख्तयार सिंह व सोना सिंह को ट्रैक्टर का पीछा करने के लिए भेजा। इतने में एक अज्ञात व्यक्ति ने माइनिंग स्टाफ सदस्य गुरचरन सिंह को जकड़ लिया। सतनाम सिंह ने अपने मोटरसाइकिल में से कापा निकाला और आते ही उसके गिरेबान को पकड़कर खींचने लगा जिस कारण उसका वर्दी फट गई।

आरोपी उसे कहने लगा कि अब बता तूं बड़ा थानेदार बना फिरता है तेरी क्या हिम्मत तूं हमारे ट्राले को रोके। फिर सतनाम सिंह ने उसे जान से मार देने की नीयत से कापे का सीधा वार उस पर किया जो बचाव में उलटा उसके सिर में जा लगा।

वर्दी फाड़कर 6-7 हजार व आईडी कार्ड साथ ले गए

झगड़े में सतनाम सिंह ने उसकी जेब से 6-7 हजार रुपए जिसमें 500-500 और 100-100 रुपए के नोट थे और उसका आईडी कार्ड झपट लिया। इतने में उनके साथ वाला तीसरा साथी इंचार्ज परमजीत सिंह के साथ हाथापाई करता रहा।

फिर उनके साथ वाले साथी जब नजदीक आए तो एएसआई मुख्तयार सिंह ने कहा कि वह उन मुलाजिमों के साथ झगड़ा क्यों कर रहे हैं। जिनको देखकर उक्त आरोपी हथियारों सहित वहां से फरार हो गए। बाद में उनके इंचार्ज परमजीत सिंह को इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3m2Gd0X

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages