�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Thursday, December 10, 2020

गुरुद्वारे की प्रधानगी को लेकर प्रधान के इकलौते एडवोकेट बेटे की हत्या,हत्यारोपी के ससुर के साथ चल रहा था जमीन का विवाद

संगत सिंह नगर में गुरुद्वारे की प्रधानगी व जमीन को लेकर चल रहे विवाद में वीरवार रात करीब 9:30 बजे प्रधान स्वर्ण सिंह के इकलौते एडवोकेट बेटे अमनदीप सिंह मेटी की हत्या कर दी गई। अमनदीप की गर्दन पर तेजधार हथियार का एक ही वार किया गया था। पुलिस ने मुख्यारोपी विशाल बाबा और उसके 6 साथियों के खिलाफ हत्या का पर्चा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

थाना-2 के एसएचओ सुखबीर सिंह का कहना है कि आरोपी फरार हैं, उनकी तलाश में रेड की जा रही है। संगत सिंह नगर स्थित गुरुद्वारा साहिब के बाहर वीरवार रात करीब 9:30 बजे उस समय सनसनी फैल गई, जब अमनदीप पर हमला कर दिया गया। गर्दन के पास चाकूनुमा तेजधार हथियार लगने से खून का फुब्बारा फूट गया। अमनदीप को उसके दोस्त अजय ने उठाकर तुरंत टैगोर अस्पताल में लेकर आए।

मैं की लैणां परधानगियां तो पुत्त मैं ते तेरे सिर ते उडदा फिरदा सी
इकलौते बेटे की मौत की खबर सुनकर पिता फूट-फूट कर रोने लगे। तभी एक महिला ने उसे संभाला। पिता स्वर्ण सिंह बेहाल हो चुके थे। वे बार-बार कह रहे थे कि ‘मैं की लैणां परधानगियां तो पुत्त, मैं ते तेरे सिर ते उडदा फिरदा सी।’ आधी रात तक पुलिस टैगोर अस्पताल में मौजूद थी ताकि सुरक्षा के बीच अमन का शव सिविल अस्पताल में पहुंचाया जा सके। पिता स्वर्ण सिंह ने बताया कि मुख्यारोपी बाबा के ससुर के साथ गुरुद्वारा का विवाद चल रहा है। कत्ल की सूचना मिलने पर एसीपी हरसिमरत सिंह, एसएचओ सुखबीर भी मौके पर पहुंच गए।

ट्रेनिंग पूरी हो चुकी थी वकालत शुरू करनी थी
पिता स्वर्ण सिंह ने पुलिस को बताया कि गुरुद्वारा साहिब की जमीन से लेकर प्रधानगी को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। मामला हाईकोर्ट में अंडर ट्रायल है। वे खुद एडवोकेट के मुंशी हैं और बेटे अमनदीप सिंह ने ट्रेनिंग पूरी करके वकालत शुरू करनी थी। रात में बेटा गुरुद्वारा साहिब में ग्रंथी से मिलने गया तो देखा कि उक्त लोगों ने कमरे का ताला तोड़ दिया था। इसको लेकर बेटे की तीखी कहासुनी हो गई। विवाद का पता चला तो वे भी मौके पर आ गए। इस बीच देखा कि हमलावरों ने बेटे पर हमला कर दिया। बेटे को लहूलुहान देख कर वे मदद के लिए चिल्लाए। बेटे को टैगोर अस्पताल में लेकर आए, जहां रात करीब 11:30 बजे डाॅक्टर ने कहा कि वे अमनदीप को बचा न सके।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
The murder of Pradhan's only advocate son, the land dispute was going on with the father-in-law of the murderer regarding the presidency of the gurudwara


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37WBCIN

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages