�� Online shopping Info �� All types of letest tech Info update is provided hare (tech,shopping,auto,movie,products,health,general,social,media,sport etc.) Online products Shopping

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Friday, January 8, 2021

सिविल समेत 4 सेंटरों में ट्रायल, टीम में वैक्सीनेटर, 3 स्टाफ मेंबर और एक पुलिस कर्मी तैनात

जिले में कोरोना वैक्सीन को लेकर शुक्रवार को सिविल अस्पताल समेत 4 सेंटरों पर ड्राई रन किया गया, जोकि लगभग पूरी तरह सफल रहा। हालांकि स्टाफ के आपसी कोआर्डिनेशन में कुछ खामियां देखने को मिलीं। जिला टीकाकरण अफसर डॉ. राकेश चोपड़ा का कहना है कि इस कमी को भी जल्द दूर कर लिया जाएगा। ड्राई रन के दौरान टीमों में एक वैक्सीनेटर के अलावा 3 स्टाफ मेंबर और एक पुलिस कर्मी मौजूद रहा। सभी सेंटरों पर सुबह 9:30 बजे ड्राई रन शुरू किया गया। शुभारंभ सिविल सर्जन डाॅ. बलवंत सिंह और मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डाॅ. परमिंदर कौर ने किया।

पहली बार हुए ड्राई रन में एंट्री गेट से लेकर वैक्सीन लगने तक 4:45 मिनट का समय लगा। जबकि ज्यादा से ज्यादा पूरी प्रक्रिया में 7:44 मिनट समय दर्ज किया गया। जिला टीकाकरण अफसर डाॅ. राकेश चोपड़ा का कहना है कि सेंटर में जब कोई लाभपात्री आएगा तो उसकी वेरिफिकेशन से लेकर वैक्सीन लगाने के लिए कोई समय सीमा नहीं रखी गई है।

फिर भी टीमें इस प्रक्रिया के लिए 8 से 10 मिनट एक व्यक्ति के लिए लेकर चल रही है। बता दें शुक्रवार को सिविल अस्पताल के वैक्सीन सेेंटर में सिविल अस्पताल के 10 से अधिक डॉक्टरों ने हिस्सा लिया। जिक्रयोग है कि कोविन पोर्टल पर अब तक 13 हजार हेल्थ वर्करों की रजिस्ट्रेशन हो चुकी हैं और सभी को डोज लगेगी।

वैक्सीनेशन के बाद अस्पताल से घर पहुंच कर दिक्कत हो तो 1075 पर काॅल करें

दो बार नर्स पूछेगी-आपको घबराहट या तकलीफ तो नहीं-वैक्सीन लगने के बाद व्यक्ति को 30 मिनट डॉक्टर के निगरान कक्ष में बैठना होगा। इसके लिए अलग से हर सेंटर में वार्ड भी तैयार है, जहां लाभपात्री को वैक्सीन लगवाने के बाद 30 मिनट रुकना होगा। इस दौरान दो बार नर्स उसके पास आएगी और पूछेगी कि टीका लगने के बाद घबराहट या तकलीफ तो नहीं हो रही। शुक्रवार को ड्राई रन के दौरान व्यक्ति की हालात खराब होने पर डमी रिहर्सल भी की गई, जोकि करीब-करीब सफल रही है।

टीमों में कोआर्डिनेशन की कमी दूर करेंगे : डॉ. चोपड़ा

जिला टीकाकरण अफसर डॉ. राकेश चोपड़ा का कहना है कि जिले के 4 सेंटरों में शुक्रवार को की गई रिहर्सल काफी हद तक सफल रही है। हालांकि टीमों में वैक्सीन लगाने में कोई खामी नहीं पाई गई है। जबकि शुरुआत में सेंटर के प्रवेश द्वार और लाभपात्री को शिफ्ट करने में स्टाफ और दर्जा-4 कर्मी में आपसी तालमेल की कमी दिखी है। हालांकि इन पहलूओं पर काम करने के लिए आने वाले दिनों में चारों सेंटरों की टीमों और बाकी 33 सेंटरों की टीमों के साथ मीटिंग भी की जाएगी ताकि किसी वैक्सीन के फाइनल प्रोग्राम को लेकर कोई दिक्कत न आए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Trial in 4 centers including civil, vaccinator in the team, 3 staff members and a police personnel deployed


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3q30gid

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages